मध्य प्रदेश में बीज व्यापार की ‘खाट’ खड़ी कर रहे कुछ लोग

Share

रेट लिस्ट घूम रही है व्यापारिक क्षेत्र में

27 अप्रैल 2022, भोपाल ।  मध्य प्रदेश में बीज व्यापार की ‘ खाट ‘ खड़ी कर रहे  कुछ लोग – मध्य प्रदेश के कृषि आदान व्यापार में यदि आप का अंगूठा अलंगे के नीचे आ जाए और आप ‘नारायण-नारायण’ करें तो आप भूल जाएं कि हरि आएंगे और आप को ‘तार’ देंगे, परन्तु ‘किसी’ के ‘गले का हार’ तारणहार बनकर उस अलंगे पर पैर रख देगा कि पहले ‘दक्षिणा’ रखो।

सूत्रों के मुताबिक पिछले 1 वर्ष में एग्री इनपुट मार्केट में 150 करोड़ की ‘चंदा वसूली’ बीज व्यापारियों, उर्वरक निर्माताओं, बड़े डिस्ट्रीब्यूटरों से प्रथागत तरीके से हो चुकी है। मंत्रालय के सत्ता साकेत के ‘अनुचर’ भोपाल से लेकर ‘इंदौर’ तक घुसे हुए हैं। और बकायदा रेट लिस्ट अनुसार बीज-खाद के नमूने पास-फेल किए जाते हैं। पक्षियों में बाज की निगाह सबसे अधिक पैनी होती है, परन्तु यहां तो बीज का बाज भी पंकज प्रहार से मूर्छित है। अब खरीफ के नगाड़े बज चुके हैं, बीज बिक्री का मौसम शुरू हो चुका है, मौसम विभाग बेहतरीन मानसून की भविष्यवाणी कर चुका है। अच्धे ‘सीजन’ की उम्मीद में ‘संदेशे’ व्यापारी भाइयों तक पहुंच रहे हैं। ‘व्हाट्सएप कॉल के गुप्त गुणों का लाभ लेते हुए कासिद, कारिंदे, कबूतर संदेश भेज रहे हैं। ‘सरकार’ इधर बुलडोजर पर चढ़ी हुई है, वहीं कुछ लोग बुलवर्कर का उपयोग कर इस अवैध वसूली में शौर्य प्रदर्शन कर रहे हैं।

कृषि मंत्री नकली कीटनाशक के सेंपल प्रयोगशालाओं में भेजने के लिए डाक विभाग से ‘एमओयू’ कर चुके हैं। चारों तरफ सुशासन होगा, प्रजा जागती रहे, होशियार, खबरदार।

महत्वपूर्ण खबर: देश की प्रमुख मंडियों में गेहूं के मंडी रेट और आवक (26 अप्रैल 2022 के अनुसार)

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.