छत्तीसगढ़ में खाद विक्रेताओं के लिए उर्वरक गुण नियंत्रण पर प्रशिक्षण

Share

7 जनवरी 2023,  रायपुर । छत्तीसगढ़ में खाद विक्रेताओं के लिए उर्वरक गुण नियंत्रण पर प्रशिक्षण – इफको द्वारा खाद विक्रेता प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे छग राज्य के कृषि विभाग के कई आधिकारी व खाद विक्रेताओं ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन श्री राजेश गोले, (मु क्षेत्र प्रबंधक) व श्री कोशलेन्द्र सिंह, (उप प्रबंधक इफको) द्वारा किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्री उमेश डोन्डे, (सहायक संचालक, क्षेत्रीय उर्वरक परीक्षण प्रयोगशाला, मुम्बई  ने  उर्वरक विक्रेताओं को एफसीओ के मुख्य प्रावधानों एवं खुदरा विक्रेताओं की जिम्मेदारियों का उल्लेख किया, उनके पास कौन कौन से जरुरी फार्म होने चाहिये यह भी बताया गया। डॉ. एन. के. दीक्षित (रिटायर्ड संयुक्त संचालक कृषि ) द्वारा एफ़सीओ के अंतर्गत नमूना कैसे लिया जाता है, नमूना लेने के लिये जरुरी औजार क्या होते हैं इसकी जानकारी प्रदान की गई।  मुख्य अतिथि श्री पी. आर. अर्हिवाल, (उप संचालक रसायनिक परीक्षण प्रयोगशाला) द्वारा फर्टिलाइजर सेम्पलिंग एवं फार्म के बारे में बताया गया। श्रीमती गोपिका ( उप संचालक  बयो-फर्टिलाइजर परीक्षण प्रयोगशाला)  द्वारा जैव -उर्वरकों की गुणवत्ता नियंत्रण के बारे में जानकरी दी गई। श्री आर. एस. तिवारी, (राज्य विपणन प्रबंधक इफको) द्वारा इफको की गतिविधियों व उर्वरक उत्पादों के बारे में संक्षिप्त में जानकारी प्रदान दी गई।

डॉ. एस. के. सिंह (मुख्य प्रबंधक कृषि सेवा इफको) द्वारा इफको के नए नैनो तकनीक से निर्मित नैनो यूरिया के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया व चलचित्र भी दिखाया गया। श्री राजेश गोले, मुख्य क्षेत्र प्रबंधक  द्वारा पीओएस मशीन बिक्री व अन्य बारीक जानकारियों से प्रतिभागियों को अवगत कराया। प्रतिभागियों के संशय का हल श्री राजेश गोले व डॉ एस. के. सिंह  द्वारा किया गया। कार्यक्रम का समापन श्री बी. एस. गोपीनाथ उप महा- प्रबंधक इफको द्वारा किया गया।

महत्वपूर्ण खबर: छत्तीसगढ़ में धान के बदले रागी की खेती के लिए किया जा रहा है प्रोत्साहित

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *