राज्य कृषि समाचार (State News)

जबलपुर जिले में कृषि आदान विक्रेताओं के प्रतिष्ठानों का औचक निरीक्षण

Share

13 जून 2024, जबलपुर: जबलपुर जिले में कृषि आदान विक्रेताओं के प्रतिष्ठानों का औचक निरीक्षण – किसानों  को उच्च गुणवत्ता का बीज  एवं  खाद उचित स्तर पर प्राप्त हो सके, इसके लिये कृषि विभाग सजग है तथा अधिकारियों के द्वारा निरन्तर कृषि आदान सामग्री  विक्रेताओं  के प्रतिष्ठानों  का औचक निरीक्षण किया जा रहा है तथा जहाँ भी कमियाँ मिलती है उनको नोटिस जारी कर उन पर कार्यवाही की जा रही है। इसी श्रृंखला में पाटन विकासखंड के विभिन्न कृषि आदान विक्रेताओं  के प्रतिष्ठानों का सहायक संचालक कृषि कीर्ति वर्मा एवं जिला परामर्शदाता श्री मुकेश मीणा द्वारा औचक निरीक्षण किया गया।  

निरीक्षण के दौरान श्री गणेश  फर्टिलाइजर  एवं राहुल कृषि केन्द्र के  गोदाम में भंडारित खाद का पी.ओ.एस. मशीन से मिलान किया गया। गणेश  फर्टिलाइजर  द्वारा पी.सी.  जुड़वाए  बगैर बीज का भंडारण किया गया था। अतः उनको नोटिस जारी कर ऐसा न करने की हिदायत दी गई। जिला स्तरीय गठित दल के दौरे की जानकारी लगते ही कई विक्रेताओं द्वारा जाँच से बचने के लिये अपने प्रतिष्ठान बंद कर दिये गये। ऐसे प्रतिष्ठान पचौरी कृषि केन्द्र पाटन, माँ रेवा कृपा कृषि केन्द्र पाटन, शिव शक्ति कृषि केंद्र पाटन, किसान एग्रो सीड्स पाटन, माँ अमृता एग्रो एंड सेल्स पाटन, श्री पारस बीज भंडार पाटन, प्रशांत बीज भंडार पाटन एवं अरविन्द बीज भंडार पाटन प्रतिष्ठानों में नोटिस चस्पा किये गये तथा उनको तीन दिवस के अंदर अपने समस्त रिकार्ड के साथ उप संचालक कृषि कार्यालय में उपस्थित होने की हिदायत दी गई, ऐसा न करने पर उनके लाइसेंस निलंबन की कार्यवाही की जावेगी।

दल के द्वारा प्रगति सीड्स के ग्रेडर यूनिट का भी निरीक्षण किया गया तथा समिति द्वारा उत्पादित बीज का संपूर्ण रिकार्ड देखा गया तथा वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्रीकांत यादव द्वारा बीज के सैंपल लिये गये और गुणवत्ता परीक्षण के लिये प्रयोगशाला भेजे गये। बीज उत्पादन समिति द्वारा  किसानों  के यहाँ लिये गये बीज उत्पादन कार्यक्रम एवं उनके द्वारा उत्पादित बीज की मात्रा एवं ग्रेडिंग के बाद पैकिंग के लिये तैयार बीज की मात्रा के स्टाफ का मिलान किया गया तथा बीज प्रमाणीकरण संस्था द्वारा फेल किये गये लॉट की जानकारी मौके पर तुरंत उपलब्ध नहीं  कराने के कारण उक्त जानकारी उप संचालक कृषि कार्यालय में दो दिवस के अंदर प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया गया।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements