स्वसहायता समूह की महिलाओं को मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

12 अप्रैल 2021, राजनांदगांव । स्वसहायता समूह की महिलाओं को मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण – खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग द्वारा डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम मनेरी में हनी मिशन पायलेट प्रोजेक्ट (शहद) के तहत मौन गृह, मौन वंश एवं टूलकिट वितरण समारोह का आयोजन किया गया। उल्लेखनीय है कि मनेरी ग्राम के समीप वन एवं वहां की जलवायु को मधुमक्खी पालन के लिए उपयुक्त पाया गया है और भारत शासन के हनी मिशन पाइलेट प्रोजेक्ट के लिए चयनित किया गया है। इस योजना के तहत मनेरी व आसपास के गांव से बिहान के 3 महिला स्व सहायता समूहों का चयन कर 5 दिवस का प्रशिक्षण दिया गयाए जिससे महिलाओं को रोजगार मिलेगा और उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत बनेगी।

खादी एवं ग्रामद्योग विभाग के सेवानिवृत्त सहायक संचालक श्री राकेश ठाकुर ने कहा कि मधुमक्खी कुटुम्ब में एक परिवार की तरह रहती है। मधुमक्खी पराग से शहद एकत्रित करती है और सभी मधुमक्खी का कार्य आपस में बंटा रहता है। इसी तरह स्वसहायता समूह की महिलाएं मिलकर शहद उत्पादन के लिए कार्य करें। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के अधिकारी श्री प्रेम कुमार साहू ने आयोग तथा शासन की योजनाओं की जानकारी दी।

खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के अधिकारी श्री प्रकाश बघेल ने बताया कि खादी बोर्ड व आयोग द्वारा गांव में लघु उद्योंगो को बढ़ावा देने के लिए एक एप लांच किया है। जिसमे ऑनलाइन उत्पाद का विक्रय किया जा सकता है । श्री प्रदीप शर्मा ने महिलाओं को इस प्रोजेक्ट से जोडऩे व इनके द्वारा उत्पादित सामग्रियों के मार्केटिंग की जानकारी दी। इस अवसर पर गणमान्य नागरिक एवं ग्रामवासी उपस्थित थे।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *