बाढ़ बचाव एवं मानसून पूर्व तैयारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन 

Share

8 जून 2022, जयपुर । बाढ़ बचाव एवं मानसून पूर्व तैयारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन आपदा प्रबन्धन एवं सहायता मंत्री श्री गोविंदराम मेघवाल की अध्यक्षता में यहां शासन सचिवालय में बाढ़ बचाव एवं मानसून पूर्व तैयारियों की समीक्षा के संबंध में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में आगामी मानसून में बाढ़ बचाव हेतु तैयारियों के संबंध में समस्त बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा की गयी।

आपदा प्रबन्धन मंत्री द्वारा मानसून सत्र के दौरान, पूर्व वर्षों के अनुभवों को देखते हुए राज्य के कुछ हिस्सों में बाढ़ की सम्भावना के मध्यनजर पूर्व वर्षों की भांति, आपदा प्रबन्धन तन्त्र को सक्रिय बनाने एवं आम नागरिकों की सम्भावित कठिनाईयों के निराकरण हेतु त्वरित कार्यवाही करने तथा प्रभावित क्षेत्रों में शीघ्र राहत पहुॅचाने इत्यादि की उच्च प्राथमिकता के बारे में अवगत कराया।

आपदा प्रबन्धन एवं सहायता विभाग के शासन सचिव श्री आशुतोष ए. टी. पेडणेकर द्वारा गत वर्ष किये गये बचाव कार्यों हेतु सभी विभागों व एजेंसियों का आभार व्यक्त किया तथा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से लगभग 35 विभागों के उपस्थित प्रतिनिधियों को मानसून 2022 के दौरान उनके विभाग से संबंधित की जाने वाली कार्यवाही के संबंध में विस्तृत जानकारी दी तथा उनके द्वारा की गयी तैयारियों की जानकारी भी प्राप्त की।

प्रस्तुतीकरण में राज्य के विभिन्न हिस्सों में अग्रिम तौर पर बाढ़ के संवेदनशील क्षेत्रों की पहचान, आवश्यक वस्तुओं, सुविधाओं एवं दवाओं का स्टॉक करना, बाढ़ चेतावनी की सूचना देने की परिपूर्ण व्यवस्था, बचाव दल का नोबिलाइजेशन, बचाव नौकाएँ, पम्पसेट आदि सामग्री की व्यवस्था किये जाने बाबत निर्देश दिये।

शासन सचिव द्वारा सार्वजनिक निर्माण विभाग तथा स्थानीय निकाय के प्रतिनिधियों को निर्देश दिये नदी नालो पर निर्मित पुलिया व सेतु मार्ग पर पानी के भराव की स्थिति में सुरक्षा हेतु सुरक्षाकर्मी एवं चेतावनी बोर्ड इत्यादि लगाने के निर्देश दिये तथा सभी विभागों को आपसी समन्वय स्थापित कर मानसून के दौरान बाढ़ बचाव के कार्यों को प्राथमिकता से सम्पादित करने के निर्देश दिये गये।

मौसम विभाग के निदेशक ने प्रस्तुतिकरण के जरिये मानसून 2022 की संभावना को विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि जून, 2022 के तीसरे सप्ताह में राज्य के दक्षिणी भाग में मानसून प्रवेश कर जायेगा तथा इस वर्ष मानसून सामान्य रहने की संभावना भी व्यक्त की गयी। मन्त्री महोदय द्वारा समस्त उपस्थित विभागों के अधिकारियों को अपने विभागाध्यक्षों से बैठक में दिये गये निर्देशों के सम्बन्ध में विचार विमर्श करने तथा मानसून के दौरान विभागों को किसी प्रकार की आवश्कता के संबंध में आपदा प्रबन्धन विभाग से समन्वय करने बाबत निर्देश दिये।

बैठक में शासन सचिव समस्त नोडल विभागों के अधिकारीगण के अलावा सेना, वायु सेना. एन. डी. आर. एफ. एस. डी. आर. एफ. एय भारतीय मौसम विभाग के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.