केके फायबर्स और निरंजनलाल फाउंडेशन ने दिया पर्यावरण बचाने का संदेश

Share
  • (दिलीप दसौंधी , मंडलेश्वर )

7 जून 2022, केके फायबर्स और निरंजनलाल फाउंडेशन ने दिया पर्यावरण बचाने का संदेश पेड़  पौधो को काटने से रोकने , पशु पक्षियों को बचाने , गांव में  स्वच्छता बनाए रखें, नदी तालाब के पानी को  , प्रदूषित ना  करने ,बिजली की बचत करने,  वायू प्रदूषण को रोकने और पर्यावरण के साथ ही वृक्षारोपण  करने जैसे  संदेशों के साथ पिछले 7 वर्षों से किसानों और श्रमिकों के बीच कार्य करने वाले केके फायबर्स, निरंजनलाल अग्रवाल फाउंडेशन और निमाड़ भारती सेवा संस्थान ने 5  जून को  विश्व पर्यावरण दिवस मनाया। जिसके तहत दीवारों पर चित्र बनाने केअलावा गांवों की सफाई कर ग्राम बड़ा एवं  किरगांव  में करीब 80 से अधिक स्वयं सेवकों एवं  500 से अधिक ग्रामवासियों  ने श्रमदान किया।

संस्था के श्री आशुतोष अग्रवाल ने बताया कि पर्यावरण और सामाजिक सरोकार का अलख जगाने हमारे कार्यकर्त्ता गांव. गांव जाकर ग्रामीणों को पारंपरिक तरीके से पर्यावरण बचाने में वे कैसे योगदान दे सकते है, इसकी जानकारी दे रहे हैं । संस्था के श्री गौरव निखौरिया ने बताया कि मानव जीवन के लिए पर्यावरण संरक्षण कितना जरुरी है ओर धरती बचाने के लिए खुद इंसानों को इन्हें क्यों अपनाना चाहिए, यह अलख जगाने का प्रयास किया जा रहा है। पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में बीसीआई प्रोजेक्ट के तहत 281 गांवों में जनजागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें चित्रकला, नुक्कड़ नाटक, श्रमदान, जागरुकता रैली, पौधारोपण आदि कार्यक्रम  किए जा रहे हैं।

इसी कड़ी में  रविवार को ग्राम बड़ा एवम किरगांव  में करीब 80 से अधिक स्वयं सेवकों  एवम 500 से ज्यादा ग्रामीणों ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और श्रमदान किया जिसमें  किसान एवम मजदूर परिवार के सदस्य शामिल थे।  जागरुकता रैली के अलावा  नुक्कड़ नाटक के जरिये पेड़ों  का महत्व, बाल विवाह के नुकसान आदि कार्यक्रम आयोजित किए। गांवों में सड़क  किनारे गोबर, कचरा आदि फेंककर जो रुखडा बनाया गया था ,उसे व्यवस्थित कर इसे खाद के रुप में कैसे इस्तेमाल करें  इसकी जानकारी भी दी गई। ग्रामीणों ने कहा कि कई कार्यक्रम पर्यावरण और स्वच्छता के प्रति चलाए जाते हैं,  लेकिन आमजन इसमें कैसे सहभागिता कर इसे दिनचर्या में शामिल कर सकता है यह सिर्फ फाउंडेशन द्वारा बताया गया । कार्यक्रम समापन पर सभी ग्रामीणों को पहली बारिश के बाद सुरक्षित स्थान पर पौधारोपण, घर के आसपास साफ, सफाई रखने आदि का संकल्प भी दिलाया। इस दौरान  जितेंद्र जायसवाल  शैलेंद्र बिरला, ताराचंद  यादव, संजय कदम, विजय प्रजापत रमेश यादव, भूपेंद्र सोलंकी, प्रवीण यादव, राजेश यादव, रुपाली यादव,मंजुला राठौड़ एवम् भारती यादव का सराहनीय योगदान रहा।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.