50 साल से किसानों को झूठे सपने बेचने से खेती बर्बाद हुई – योगेंद्र यादव

Share

12 अगस्त 2022, इंदौर: 50 साल से किसानों को झूठे सपने बेचने से खेती बर्बाद हुई – योगेंद्र यादव – संयुक्त किसान मोर्चा के नेता श्री योगेंद्र यादव ने कहा कि 50 साल से  किसानों को झूठे सपने बेचे गए  जिसके चलते खेती बर्बाद हुई है। आपने 186 किसानों के बकाए के मुद्दे पर कहा कि इस लड़ाई में तीन चरण आप जीत चुके हो, चौथे चरण का संघर्ष बाकी है। एकजुटता बनी रही तो वह भी आप जीतोगे। किसान, जवान और नौजवान की त्रिवेणी देश -विदेश की हर समस्या का समाधान कर सकेगी, इसीलिए संयुक्त किसान मोर्चे ने जय जवान, जय किसान सम्मेलन देशभर में आयोजित किए हैं।

 सम्मेलन में नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने कहा कि सरकार में बैठे लोग पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए उपजाऊ भूमि हड़प अभियान चला रहे हैं। इंदौर और आसपास की उपजाऊ भूमि के अधिग्रहण का मामला भी ऐसा ही है ।भूमि अधिग्रहण के खिलाफ किसानों को एकजुट होकर संघर्ष करना पड़ेगा। सम्मेलन को संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं सर्वश्री बादल सरोज, डॉ सुनीलम, विंग कमांडर अनुमा आचार्य ,अनिल यादव, इरफान जाफरी ,भगवान सिंह मीणा प्रहलाद दास बैरागी ,सहित बाहर से आए विभिन्न वक्ताओं ने संबोधित कर  किसानों के विभिन्न मुद्दों पर प्रकाश डाला ।

उल्लेखनीय है कि गत दिनों संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वावधान में इंदौर की लक्ष्मी नगर अनाज मंडी में जय जवान, जय किसान सम्मेलन में  आयोजित किया गया ,जिसमें वर्षा के बावजूद इंदौर -उज्जैन संभाग से बड़ी संख्या में किसान शामिल हुए।सम्मेलन की शुरुआत श्री प्रमोद नामदेव के क्रांति गीत से हुई उसके बाद अतिथियों ने किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों को पुष्पांजलि अर्पित की। सम्मेलन में 10 सूत्रीय प्रस्ताव भी पारित किया गया जिसमें अग्निपथ योजना रद्द करने, एमएसपी गारंटी कानून बनाने ,मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्याज सोयाबीन की भावांतर राशि और गेहूं का बोनस बकाया भुगतान करने 186 किसानों का गेहूं का बकाया भुगतान मंडी निधि से करने, भूमि अधिग्रहण के मुआवजे का तत्काल नगद भुगतान करने, इकोनामिक कॉरिडोर योजना में और लैंड पुलिंग एक्ट में उपजाऊ भूमि के अधिग्रहण का विरोध करने ,इंदौर के कृषि कॉलेज की भूमि अधिग्रहण की कोशिशों का विरोध और खेतों में नीलगाय के आतंक से मुक्ति दिलाने संबंधी प्रस्ताव शामिल हैं। प्रस्ताव पर विचार रखते हुए सर्वश्री बबलू जाधव ,दिनेश सिंह कुशवाहा, अरुण चौहान, रूद्र पाल यादव, शैलेंद्र पटेल, सोनू शर्मा ,राधे जाट ,रणजीत सिंह रघुवंशी आदि ने सभी समस्याओं के  समाधान के लिए किसानों की एकजुटता पर ज़ोर दिया। डॉ सुनीलम ने विदिशा में वन वासियों के ऊपर किए गोली चालन का निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया। सम्मेलन में निर्णय लिया गया कि आगामी दिनों में मध्य प्रदेश के विभिन्न अंचलों में ऐसे ही सम्मेलन आयोजित कर  किसानों की विभिन्न मुद्दों की लड़ाई को धारदार बनाया जाएगा।

बॉक्स में लगाएं -संयुक्त किसान मोर्चा के इस सम्मेलन में इंदौर के कृषि कॉलेज की भूमि अधिग्रहण की कोशिशों का विरोध करते हुए कृषि कालेज की भूमि बचाने के लिए एक प्रस्ताव अलग से पारित किया गया।

महत्वपूर्ण खबर: शुभम को ग्रीष्मकालीन मूंग का मिला बेहतर उत्पादन

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.