बकाया भुगतान की मांग को लेकर किसानों ने मंडी में नीलामी रुकवाई

Share

त्रि पक्षीय बैठक में 4 दिन में बकाया भुगतान करने का हुआ फैसला

23 मई 2022, इंदौर । बकाया भुगतान की मांग को लेकर किसानों ने मंडी में नीलामी रुकवाई – आज सुबह छावनी मंडी में किसान संगठनों के आह्वान पर किसानों ने अपने बकाया भुगतान की मांग को लेकर नीलामी रोक दी। बड़ी संख्या में एकत्रित किसानों ने मंडी समिति कार्यालय के बाहर सभा कर मंंडी अधिकारियों के समक्ष प्रदर्शन किया। 4 घंटे नीलामी कार्य रुकने के बाद किसान संगठनों, व्यापारी प्रतिनिधि ,मंडी अधिकारियों व भार साधक अधिकारी की मौजूदगी में हुई संयुक्त बैठक में 4 दिन में व्यापारी द्वारा भुगतान करने और अब किसानों को उनकी फसल का नकद भुगतान करने का निर्णय लिया गया ।

भार साधक अधिकारी(अपर कलेक्टर) श्रीराजेश राठौड़, मंडी सचिव श्री नरेश परमार, प्रांगण अधिकारी श्री रमेश परमार व श्री नरेन्द्र दवे की मौजूदगी में व्यापारी श्री राजदीप सिंह, दीपाली सिंह तथा किसान संगठनों के प्रतिनिधि श्री रामस्वरूप मंत्री, श्री बबलू जाधव, श्री शैलेन्द्र  पटेल, श्री अरुण चौहान ,श्री सोनू शर्मा सहित अन्य किसान प्रतिनिधियों की संयुक्त बैठक हुई । जिसमें निर्णय लिया गया कि व्यापारी फर्म जया लक्ष्मी फूड्स  4 दिन के अंदर सभी किसानों का बकाया भुगतान करेगी तथा मंंडी में होने वाली नीलामी में  फसल को जो भी व्यापारी खरीदेगा वह 1 जून से 2 लाख रुपए तक का नगद भुगतान करेगा और यदि उसी दिन किसान को भुगतान नहीं मिल  मंडी समिति को सूचित करने पर  मंडी समिति तत्काल व्यापारी से भुगतान कराएगी।  त्रिपक्षीय  बैठक में हुए निर्णय के बाद मंडी में नीलामी शुरू हुई।

इसके पूर्व हूई सभा में  किसान नेताओं ने कहा कि पूर्व में भी लक्ष्मी नगर मंडी के 186 किसानों का करीब पौने तीन करोड़ रूपया लेकर हरि नारायण खंडेलवाल और उनके परिवार की  फमें फरार हो गई है । इसी के साथ आलू प्याज मंडी की फर्म मुकाती ट्रेडिंग कंपनी भी करोड़ों रुपए की खरीदी करके फरार हो गई है ।जिसके बकाया का भी निर्णय नहीं हुआ है और अब फिर मंडी समिति की लापरवाही के चलते व्यापारी करोड़ों की खरीदी कर रहे हैं और भुगतान नहीं कर रहे हैं । इसे अब किसान सहने को तैयार नहीं है। बड़ी देर तक नारेबाजी और विरोध प्रदर्शन होता रहा। संयुक्त किसान मोर्चा, किसान संघर्ष समिति, किसान मजदूर सेना, अखिल भारतीय किसान सभा  के नेतृत्व में हुए इस प्रदर्शन का व्यापक असर हुआ। प्रभारी अधिकारी श्री राजेश राठौड़ ने कहा कि किसानों की मांग जायज है और वे किसानों के साथ हैं ।उन्होंने विश्वास दिलाया कि  किसानों के एक -एक पैसे का भुगतान कराया जाएगा । हालांकि व्यापारी ने 15 से 20 दिन का समय मांगा  हैं ,लेकिन हमने उन्हें 4 दिन का समय दिया है और उनसे शपथ पत्र भी  ले रहे हैं । यदि 4 दिन में उक्त फर्म भुगतान नहीं करेगी ,तो मंडी समिति आगे की कार्रवाई करेगी । एसडीएम श्री राठौड़ के आश्वासन पर किसानों ने अपना विरोध प्रदर्शन इस  चेतावनी के साथ समाप्त कर दिया, कि किसानों के हित पर यदि हमले जारी रहे तो किसान फिर आंदोलन करेंगे ।आज के इस प्रदर्शन में बड़ी संख्या में इंदौर व आसपास के जिले के किसान उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: प्रदेश के हर गांव को ग्रीन बनाने के सपने को किया जाएगा साकार – कंवर पाल

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.