उपार्जन केंद्रों पर गेहूं बिक्री में किसानों की रुचि घटी, स्लॉट बुकिंग अब 30 अप्रैल तक

Share

21 अप्रैल 2022, इंदौर । उपार्जन केंद्रों पर गेहूं बिक्री में किसानों की रुचि घटी, स्लॉट बुकिंग अब 30 अप्रैल तक खाद्य विभाग द्वारा रबी विपणन वर्ष 2022-23 में समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन के लिये किसानों को गेहूं विक्रय हेतु www.mpeuparjan.nic.in पर स्लॉट बुकिंग की सुविधा दी गई है। शासन द्वारा स्लॉट बुकिंग की अवधि में  पुनः वृद्धि करते हुए यह सुविधा अब 30 अप्रैल तक कर दी गई है। इसके बाद स्लॉट बुकिंग की सुविधा बंद कर दी जाएगी। इच्छुक किसान इस अवधि में अपनी स्लॉट बुकिंग करा सकते हैं। लेकिन यह देखने में आ रहा है कि उपार्जन केंद्रों पर गेहूं बिक्री में किसान कम रूचि ले रहे हैं ,क्योंकि उन्हें गेहूं का मूल्य खुले बाजार और मंडी में समर्थन मूल्य से अधिक मिल रहा है।

स्लॉट बुकिंग में बार-बार परिवर्तन  :  उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा इसके पहले स्लॉट बुकिंग की अवधि में दो बार वृद्धि की गई है। पहले स्लॉट बुकिंग की अंतिम तारीख 13 अप्रैल थी , जिसे बढ़ाकर पहले 17 अप्रैल किया गया और अब इसे पुनः बढाकर 30 अप्रैल तक कर दिया गया है। स्लॉट बुकिंग की अंतिम तिथि में बार-बार वृद्धि का कारण  किसानों का उपार्जन केंद्रों तक नहीं पहुंचना है। रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण आयात की मांग बढ़ने से गेहूं के दामों में तेज़ी देखी जा रही है। किसानों को खुले बाज़ार में अपने गेहूं की कीमत समर्थन मूल्य से कहीं अधिक मिल रही है , इसलिए किसान इन केंद्रों पर अपनी उपज बेचने में रूचि नहीं ले रहे हैं। इस कारण सरकारी खरीदी के लक्ष्य में भी कमी की जा रही है। किसानों को गेहूं का दाम 2100 से लेकर 2500 रु प्रति क्विंटल के बीच मिल रहा है । गेहूं की गुणवत्ता के हिसाब से 3000  रुपए क्विंटल से भी अधिक कीमत किसानों को मिल रही है ,जबकि समर्थन मूल्य 2015 रुपए /क्विंटल है। यही कारण है कि किसान पंजीयन कराने के बावज़ूद समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने उपार्जन केंद्रों पर कम ही पहुँच रहे  हैं।

स्लॉट बुकिंग संबंधी दिशा-निर्देश : स्मरण रहे कि राज्य शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा  गेहूं के समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिये स्लॉट बुकिंग संबंधी दिशा-निर्देश जारी  किए गए थे , जिसके तहत गत 23 मार्च  से स्लॉट बुकिंग प्रारंभ की जा चुकी है। ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत/सत्यापित कृषक द्वारा स्वयं के मोबाइल/एमपी ऑनलाईन/सीएससी/ग्राम पंचायत/लोक सेवा केन्द्र/इन्टर नेट कैफे/उपार्जन केन्द्र से स्लॉट बुकिंग करा सकते हैं।  स्लॉट बुकिंग प्रातः 9 से दोपहर 1 बजे एवं दोपहर 2 से शाम 6 बजे तक सोमवार से शुक्रवार तक की जा सकेगी।  स्लॉट की वैधता आगामी 3 कार्य दिवस रहेगी। इस बार व्यवस्था में परिवर्तन किया गया है। अब समर्थन मूल्य पर गेहूं विक्रय करने हेतु एसएमएस  के इन्तजार को समाप्त कर दिया गया है।  किसान अपनी उपज विक्रय करने के लिए उपार्जन केन्द्र का चयन एवं दिनांक स्वयं ई-उपार्जन पोर्टल पर तय कर सकेंगे। संपूर्ण उपज की स्लॉट बुकिंग एक समय में ही करनी होगी। आंशिक स्लॉट बुकिंग/आंशिक विक्रय नहीं होगा। एक बार निर्धारित उपार्जन केन्द्र पर स्लॉट बुकिंग करने के बाद  अन्य केन्द्र पर कृषक पंजीयन परिवर्तन/स्थानांतरण नहीं हो सकेगा। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर प्रतिदिन न्यूनतम 1000 क्विंटल उपज की तौल हेतु 4 तौल कांटे लगाए जाएंगे।प्रतिदिन 100 क्विंटल से अधिक विक्रय क्षमता के 4 कृषक ही लिए जाएंगे।  इन सारी प्रक्रियाओं से गुजरने के झंझट से बचने और गेहूं का मूल्य बाज़ार/मंडी  में अधिक मिलने के कारण अधिकांश किसान अपनी उपज वहीं बेच रहे हैं।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.