किसान भी जवान के बराबर सम्मान के हकदार : श्री पटेल

Share

नाबार्ड द्वारा राज्यस्तरीय पुरस्कार समारोह का आयोजन

7 जनवारी 2021, भोपाल। किसान भी जवान के बराबर सम्मान के हकदार : श्री पटेल अन्नदाता किसान यदि उत्पादन नहीं करेंगे तो हम जियेंगे कैसे? सीमा पर तैनात जवानों की तरह ही हमारे देश के किसान रात-दिन खून-पसीना बहाकर अन्न का उत्पादन करते हैं। हमारे किसान भी जवानों की तरह ही सम्मान के हकदार है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल नाबार्ड द्वारा वाल्मी में किसान दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित राज्यस्तरीय पुरस्कार समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह में प्रदेश के किसान महिला समूह एवं गैर सरकारी संस्थान को 09 विभिन्न श्रेणियों में 28 पुरस्कार प्रदान किये गये हैं।

किसान बनायेंगे टोमेटो सॉस और आलू चिप्स

श्री पटेल ने कहा कि नये कानूनों के आने के बाद किसान सिर्फ खेती ही नहीं करेंगे। वे उद्यमी बनेंगे, व्यवसाय करेंगे और उद्योगपति भी बनेंगे। किसान अपने खेतों में सिर्फ टमाटर ही नहीं उगाएंगे, वे फेक्ट्री लगाकर टोमेटो सॉस भी बनाएंगे। वे आलू ही नहीं उगाएंगे, बल्कि आलू चिप्स बनाने के लिये उद्यम भी स्थापित करेंगे। इसी प्रकार अन्य कृषिगत व्यवसायों को नये कानून बढ़ावा देकर कृषकों को समृद्ध बनाने का कार्य करेंगे।

गांव-गांव जाकर लगाएंगे चौपाल नाबार्ड और बैंककर्मी

मंत्री श्री पटेल ने कहा कि राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) और बैंकों में कार्य करने वाले लोग अपने कार्यालयों से बाहर निकलकर गांव-गांव जाकर किसानों को जागरूक करने के लिये चौपालों का आयोजन करेंगे। उन्होंने बताया कि इन चौपालों में किसानों को नाबार्ड द्वारा संचालित योजनाओं के साथ ही राज्य और केन्द्र प्रवर्तित योजनाओं से लाभान्वित होने के लिये जानकारियां प्रदान की जाएंगी। सम्मान समारोह में नाबार्ड मध्यप्रदेश क्षेत्रिय कार्यालय की मुख्य महाप्रबंधक श्रीमती टी.एस. राजी गैन ने नाबार्ड के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। समारोह को ऐपिडा के डायरेक्टर श्री चेतन सिंह ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर वाल्मि की निदेशक श्रीमती उर्मिला शुक्ला, राज्यस्तरीय बैंकिंग समिति के संयोजक श्री एस.डी. माहुरकर, एसबीआई के महानिदेशक श्री संदीप कुमार दत्ता, नाबार्ड के अन्य अधिकारीगण और प्रदेशभर से आए किसान उपस्थित थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.