फसल बीमा पाठशाला का शुभारंभ

Share

किसानों को  फसल बीमा  के लिए प्रेरित करे ; श्री तोमर, फसल बीमा पाठशाला से किसान होंगे लाभान्वित ;श्री पटेल

28 अप्रैल 2022, भोपाल । फसल बीमा पाठशाला का शुभारंभ केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली में भारत सरकार के “किसान भागीदारी-प्राथमिकता हमारी” अभियान में “फसल बीमा पाठशाला” का शुभारंभ किया। श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में सवा दस करोड़ से ज्यादा किसानों को 1.15 लाख करोड़ रूपये का भुगतान हुआ है। उन्होंने  विभिन्न राज्यों के किसानों से संवाद किया। मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल मंत्रालय से वर्चुअली शामिल हुए।

केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में खरीफ-2016 से खरीफ-2021 तक प्रतिवर्ष औसतन साढ़े 5 करोड़ किसानों ने बीमा योजना का लाभ लेने के लिये आवेदन किये। अब तक योजना में किसानों द्वारा जमा किये गये 21 हजार करोड़ रूपये के प्रीमियम भुगतान के बदले में 1.15 लाख करोड़ रूपये से अधिक की राशि के बीमा दावों का भुगतान किया जा चुका है। श्री तोमर ने फसल बीमा पाठशाला में योजना के लाभार्थी किसानों से कृषि दूत बनकर अन्य किसानों को प्रेरित करने का आव्हान किया।

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री श्री पटेल ने किसानों को फसल बीमा योजना से लाभान्वित करने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर, केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्रीद्वय श्री कैलाश चौधरी एवं सुश्री शोभा करंदलाजे और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का मध्यप्रदेश के किसानों की ओर से धन्यवाद ज्ञापित कर आभार व्यक्त किया। मंत्रालय में संचालक कृषि श्रीमती प्रीति मैथिल नायक और कृषि विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

श्री पटेल ने कहा कि जब हमारा किसान आत्म-निर्भर होगा, तो गाँव आत्म-निर्भर होंगे और हमारा राष्ट्र भी आत्म-निर्भर होगा। उन्होंने कहा कि देश में 65 प्रतिशत से अधिक लोग खेती-किसानी का कार्य करते हैं। श्री पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सदैव किसानों की चिंता की है। उन्होंने किसानों को घाटे की खेती से उबारने और खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये न केवल विभिन्न कल्याणकारी योजनाएँ बनाई, बल्कि उनका बेहतर मेंदानी क्रियान्वयन भी किया। किसानों को सिंचाई के लिये पानी और बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित की गई है। शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराने का पुनीत कार्य भी किया है।

कृषि मंत्री ने कहा कि सभी किसान भाई अपनी फसलों का बीमा अनिवार्य रूप से करायें और योजना से लाभान्वित हों।

हरदा में जल्द खुलेगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस

इजरायल दूतावास के प्रतिनिधि और कृषि वैज्ञानिक Yair Eshel ने कृषि मंत्री कमल पटेल की उपस्थिति में देखा हरदा का प्रेजेंटेशन, प्रेजेंटेशन में हरदा की कृषि, जलवायु, मिट्टी, मौसम एवं कनेक्टिविटी की जानकारी इजरायल दूतावास के कृषि वैज्ञानिकों के सामने प्रस्तुत की गई, यह टीम फील्ड विजिट करेगी।
कृषि मंत्री कमल पटेल ने कृषक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि यह सेंटर ऑफ एक्सीलेंस हरदा के लिए कृषि के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करेगा . हमारा लक्ष्य हरदा को प्रदेश ही नहीं देश में सभी क्षेत्रों में नंबर वन जिला बनाना है, यह सेंटर ऑफ एक्सीलेंस खोलने के लिए जो भी आवश्यकता होगी प्रदेश सरकार उसमें पूर्ण मदद करेगी।

महत्वपूर्ण खबर: प्रदेश का गेहूँ निर्यात अधिकाधिक देशों तक हो

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.