राज्य कृषि समाचार (State News)

क्रॉप डॉक्टर- मोबाइल ऐप

Share

08 जुलाई 2024, भोपाल: क्रॉप डॉक्टर- मोबाइल ऐप –
कार्य प्रणाली: क्रॉप डॉक्टर को गूगल प्ले स्टोर पर जाकर नि:शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है, ऐप को इनस्टॉल करने के बाद किसानों को अपना मोबाईल नंबर, नाम, पता डालकर पंजीयन करना होता है। इसके बाद निम्न बिन्दुओं पर जानकारी प्राप्त की जा सकती है:-

  • अपनी भाषा का चुनाव स्वयं कर सकते हैं।
  • किसान अपनी फसल की समस्या की पहचान, लक्षण और फोटो के द्वारा कर सकते हैं ,पहचान करने के बाद उस समस्या का समाधान/प्रबंधन भी कर सकते हैं।
  • किसान अपने घर से नजदीकी कृषि विज्ञान केंद्र का पता लगा सकते हैं।
  • कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों/विशेषज्ञों से नि:शुल्क परामर्श ले सकते हैं।
  • कृषि से सम्बंधित समाचार प्राप्त कर सकते हैं।
  • किसान कृषि वैज्ञानिकों को अपनी समस्या भेज सकते हैं।
  • फसल पर उपयोग किये गए सलाह तथा कीटनाशकों के प्रभाव आदि से सम्बंधित अपनी प्रतिक्रिया एवं सलाह भेज सकते हैं।
  • जिन किसानों को टेक्नोलॉजी की जानकारी नहीं है स्मार्ट फोन चलाना नहीं आता उनके लिए इस ऐप में बोल कर सुनाने की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है।

क्रॉप डॉक्टर ऐप की विशेषताएं – क्रॉप डॉक्टर मोबाइल ऐप में फसल से सम्बंधित जानकारी दी गई है जिसमें किसान अपनी फसल में होने वाले कीट एवं रोग का आसानी से पता लगा सकते हैं। इससे पहले किसानों को परंपरागत प्रणाली से ही खेती करना पड़ती थी, जिससे उन्हें फसल पर होने वाले कीट, रोग एवं पोषक तत्व की कमी के विषय में जानकारी नहीं होती थी। फलस्वरूप जानकारी के अभाव में फसल नष्ट हो जाती थी या फिर उत्पादन कम प्राप्त होता था। ऐप में कीट, रोग एवं पोषक तत्व की कमी से होने वाले लक्षणों को फोटो के माध्यम से दिखाया गया है। फोटो देखकर किसान बड़ी ही आसानी से समस्या की पहचान कर सकते हैं। फोटो देखने के बाद ऐप में लक्षण के विषय में जानकारी दी गयी है इस जानकारी के माध्यम से किसान यह जान सकते हैं कि उसका फ्सल कितना क्षतिग्रस्त और संक्रमित हो चुका है। ऐप में दी गयी प्रबंधन विधि द्वारा फसल के कीट को नियंत्रित कर सकते हैं, तथा रोगों का उपचार किया जा सकता है। मिट्टी में होने वाले पोषक तत्व की कमी का प्रभाव फसलों पर भी दिखने लगता है इस समस्या को क्रॉप डॉक्टर ऐप में आवश्यक पोषक तत्व की जानकारी लेकर प्रबंधन एवं समाधान किया जा सकता है।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements