राज्य कृषि समाचार (State News)

छिंदवाड़ा कलेक्टर ने शासकीय उद्यान रोपणी का किया औचक निरीक्षण

Share

27 जून 2024, छिंदवाड़ा: छिंदवाड़ा कलेक्टर ने शासकीय उद्यान रोपणी का किया औचक निरीक्षण – कलेक्टर श्री शीलेन्द्र सिंह ने बुधवार को उद्यान विभाग के अंतर्गत जिले के विकासखंड छिंदवाड़ा में स्थापित शासकीय उद्यान रोपणी जमुनिया का औचक निरीक्षण किया और रोपणी में संचालित गतिविधियों की जानकारी ली।

उद्यान अधीक्षक श्री सालकराम चौकसे द्वारा बताया गया कि यह जिले की सबसे बड़ी नर्सरी है। इसका कुल रकबा 40.468 हेक्टेयर है। कुल 15 हेक्टेयर में नर्सरी संचालित है, जिसमें आम कलमी के मातृवृक्ष विशेष दशहरी, लंगड़ा, बाम्बे ग्रीन, आम्रपाली, मल्लिका, अम्बिका, तोतापरी, हापुस, केसर आदि किस्म के पौधे हैं तथा नींबू कागजी, अमरूद इलाहाबादी सफेदा, आँवला नरेन्द्र 07 तथा चीकू आदि के भी मातृवृक्ष लगे हैं । वर्तमान में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत आम की नई प्रजाति अमरूद, सीताफल, सेव, काजू आदि पौधे मातृवृक्ष के रूप में लगाए जा रहे हैं। नर्सरी के 5 हेक्टेयर में मनरेगा योजना के माध्यम से नवीन सामुदायिक फलोद्यान लगाने की योजना प्रस्तावित है। कलेक्टर श्री सिंह ने स्वीकृति के तत्काल उपरान्त कार्य शुरू करने निर्देश दिये हैं।

कलेक्टर श्री सिंह द्वारा रोपणी में पौध उत्पादन कार्य, प्राकृतिक खेती की यूनिट और मधुमक्खी पालन का भी निरीक्षण किया गया। रोपणी में सभी प्रकार के कुल 1,20,000 पौधे विक्रय के लिये तैयार हैं, जिसमें आम ग्राफ्टेड, नींबू, कटहल, आंवला, अमरूद, जामुन, सीताफल व अन्य शोभायमान पौधों के निरीक्षण के साथ ही रोपणी में कार्यालय का भी अवलोकन किया गया । इस दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री पार्थ जयसवाल, उप संचालक कृषि श्री जितेन्द्र कुमार सिंह, अनुविभागीय कृषि अधिकारी श्री नीलकंठ पटवारी, वरिष्ठ कृषि अधिकारी श्री धीरेन्द्र ठाकुर, कृषि विस्तार अधिकारी श्रीमती श्रध्दा डेहरिया व सुश्री प्रेरणा चौकसे के साथ ही ग्राम के गणमान्य किसान उपस्थित थे।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements