राज्य कृषि समाचार (State News)

राजस्थान में कृषि बजट पर आमुखीकरण कार्यशाला में किसानों को योजनाओं से जोड़ने का किया आह्वान

Share

22 अप्रैल 2023, झुंझुनूंराजस्थान में कृषि बजट पर आमुखीकरण कार्यशाला में किसानों को योजनाओं से जोड़ने का किया आह्वान – 1 जिला स्तरीय कृषि बजट आमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन जिला कलक्टर लक्ष्मण सिंह कूड़ी की अध्यक्षता में सूचना केन्द्र सभागार में सम्पन्न हुआ। कार्यशाला में वर्ष 2023-24 में कृषि बजट के अन्तर्गत कृषि, उद्यान, कृषि विपणन, पशुपालन, जल संसाधन, ऊर्जा, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज एवं सहकारिता इत्यादि विभागों की बजट घोषणाओं की विस्तार से चर्चा की गई। कृषि (आदान) कृषि आयुक्तालय जयपुर के अतिरिक्त निदेशक यशपाल महावत द्वारा कृषि विभाग की बजट घोषणाओं की विस्तार से जानकारी दी गई जिसमें मुख्य रूप से 12 कृषि मिशनों यथा राजस्थान सूक्ष्म सिंचाई मिशन, जैविक खेती मिशन, बीज उत्पादन एवं वितरण मिशन, संरक्षित खेती मिशन, फसल सुरक्षा मिशन व उद्यानिकी विकास मिशन इत्यादि की जानकारी दी गई। कृषि (विस्तार) सीकर के अतिरिक्त निदेशक डॉ. हुशियार सिंह ने बताया कि कृषि बजट में कृषक कल्याण कोष में गत वर्ष 5000 करोड़ रूपये के स्थान पर इस वर्ष 7500 करोड़ रूपये का बजट प्रावधान रखा गया है।

कृषि (विस्तार) झुंझुनू के संयुक्त निदेशक रामकरण सैनी ने कृषि विभाग झुन्झुनूं द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी। इसी प्रकार उद्यान विभाग की योजनाओं की जानकारी उप निदेशक उद्यान डॉ. विजयपाल कस्वां ने, पशुपालन विभाग की योजनाओं की जानकारी डॉ. राकेश सूरा ने, कृषि विपणन विभाग की योजनाओं की जानकारी मण्डी सचिव महेन्द्र सिंह रेपस्वाल ने, सहकारिता विभाग की योजनाओं की जानकारी उप रजिस्ट्रार संजीव सिलायच ने, कृषि विज्ञान केन्द्र की योजनाओं की जानकारी वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. दयानन्द द्वारा दी गई।

कार्याशाला को संबोधित करते हुये जिला कलक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी ने कहा कि बजट घोषणा में संचालित की जाने वाली योजनाएं का अधिक से अधिक प्रचार प्रसार कर सभी विभागों कृषकों को लाभांवित करें। कार्यशाला में पंचायत समिति चिड़ावा प्रधान इन्द्रा डूडी तथा पंचायत समिति मण्डावा प्रधान शारदा देवठियां द्वारा भी कृषकों को योजनाओं का लाभ लेने हेतु प्रेरित किया गया। कार्यशाला में जिले के कृषकों एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा भाग लिया।

गया तथा कृषकों एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा योजनाओं में सुधार के संबंध में सुझाव भी दिये गये जो की राज्य सरकार को प्रेषित किये जायेंगे। कार्यशाला का संचालन डॉ. विजयपाल कस्वां उपनिदेशक उद्यान झुन्झुनूं द्वारा किया गया। कार्यशाला के समापन पर डॉ. राजेन्द्र लांबा, उपनिदेशक आत्मा द्वारा कार्यशाला में पधारे सभी अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों एवं कृषकों का आभार एवं धन्यवाद ज्ञापित किया गया। कार्यशाला में जिले के कृषि एवं उद्यान विभाग के सभी अधिकारियों ने भाग लिया।

महत्वपूर्ण खबर: राजस्थान में किसानों को सोलर पंप पर 60 प्रतिशत तक का अनुदान

Share
Advertisements