गेंहू रिकॉर्ड बनाने की राह पर

Share this

नरसिंहपुर जिले की गोटेगांव तहसील के ग्राम सूरवारी के प्रगतिशील कृषक श्री आशीष खरे के खेत में गेहूं की किस्म पूजा तेजस लहलहाती हुई।

देश में रबी का रकबा 536 लाख हेक्टेयर पार 

(विशेष प्रतिनिधि)

नई दिल्ली/भोपाल। देश एवं प्रदेश में रबी फसलों का रकबा गत वर्ष अब तक हुई बोनी की पार कर गया है। रबी की सबसे महत्वपूर्ण फसल गेहूं की बोनी इस वर्ष रिकार्ड बनाने की राह पर है। देश में अब तक गेहूं का रकबा 278 लाख हेक्टेयर हो गया है जो चालू रबी मौसम के सामान्य आंकड़े का 90 फीसदी है। इसी प्रकार म.प्र. में गेहूं का रकबा साढ़े 70 लाख हेक्टेयर को पार कर गया है जो सामान्य क्षेत्र की तुलना में 118 फीसदी एवं लक्ष्य की तुलना में 110 फीसदी से अधिक है। देश एवं प्रदेश में दलहनी एवं तिलहनी फसलों की बोनी गत वर्ष से धीमी है। देश में अब तक कुल बोनी 536 लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में हो गई है जो गत वर्ष की तुलना में 32 लाख हेक्टेयर अधिक है तथा म.प्र. में 115 लाख हेक्टेयर में बोनी हुई है जो गत वर्ष से 8 लाख हेक्टेयर अधिक है।

अच्छी वर्षा से गेहूं बढ़ा

कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि चालू रबी सीजन में बुवाई बेहतर होगी तथा उत्पादन भी अच्छा होने की उम्मीद है। इस साल अच्छी और देर तक बारिश होने के कारण खेतों में नमी होने का सबसे ज्यादा फायदा गेहूं की फसल को मिला है। कृषि मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक 20 दिसंबर तक देश में गेहूं की बुआई रकबा 277.91 लाख हेक्टेयर हो गया है जबकि पिछले साल इस समय तक 250.02 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई थी। रबी में गेहूं का सामान्य रकबा 305.58 लाख हेक्टेयर माना जा रहा है। अर्थात् 90 फीसदी क्षेत्र में गेहूं की बुआई हो चुकी है। चालू सीजन में गेहूं की बुआई पिछले साल की समीक्षाधीन अवधि के मुकाबले 27.88 लाख हेक्टेयर अधिक है। 

देश में बुवाई स्थिति
(लाख हेक्टेयर में)
फसल 20182019
गेहूं 250.02277.91
धान 10.1112.35
दलहन131.38131.46
मोटे अनाज40.142.7
तिलहन73.0871.79
कुल504.69536.21

चालू सीजन में गेहूं  का लक्ष्य 317.40 लाख हेक्टेयर तय किया है। गेहूं के रकबे में बढ़ोतरी की वजह मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में बुआई पिछले साल से अधिक होना है। बुआई के ताजा आंकड़ों के मुताबिक अभी तक मध्यप्रदेश में 70.69 लाख हेक्टेयर में गेहूं की बुआई हो चुकी है जबकि पिछले साल 54.06 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई थी। उत्तरप्रदेश में पिछले साल के 84.09 लाख हेक्टेयर से ज्यादा इस साल 84.19 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है। हालांकि गेहूं उत्पादक प्रमुख राज्य पंजाब और हरियाणा में इस साल बुआई पिछले साल से कम है। अभी तक पंजाब में 34.08 लाख हेक्टेयर और हरियाणा में 23.87 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है। 

केन्द्र सरकार ने वर्ष 2019-20 के लिए  गेहूं का समर्थन मूल्य भी 1925 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है। पर्याप्त नमी तथा समर्थन मूल्य में वृद्धि के कारण गेहूं का रकबा तेजी से बढ़ रहा है।

उत्पादन भी बढऩे की सम्भावना है। जबकि दूसरी तरफ केन्द्र सरकार के पास दिसम्बर के प्रारंभ में कुल 351 लाख टन गेहूं का स्टॉक उपलब्ध है। इस वर्ष बेहतर उत्पादन की उम्मीद को देखते हुए एफसीआई के लिए खाद्यान्न भण्डारण की समस्या हो सकती है क्योंकि एफसीआई पर्याप्त मात्रा में गेहूं की बिक्री नहीं कर पा रही है।

गेहूं की तरह दूसरी फसलों की भी बुआई पिछले साल की अपेक्षा बेहतर दिखाई दे रही है। कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक चालू रबी सीजन में अभी तक धान का रकबा 12.35 लाख हेक्टेयर पहुंच चुका है, जो पिछले साल 10.11 लाख हेक्टेयर था। दलहन फसलों की भी बुआई पिछले साल के 131.38 लाख हेक्टेयर से कुछ अधिक 131.46 लाख हेक्टेयर हो गई है। मोटे अनाजों का रकबा 42.70 लाख हेक्टेयर पहुंच चुका है जो पिछले साल 40.10 लाख हेक्टेयर था। हालांकि तिलहन फसलों की बुआई पिछले साल से कुछ पिछड़ी हुई है। 

तिलहन फसलों की बुआई 71.79 लाख हेक्टेयर में हुई है जबकि पिछले साल इस समय तक 73.08 लाख हेक्टेयर में बुआई हो चुकी थी। कुल रबी फसलों की बुआई का रकबा भी पिछले साल 504.69 लाख हेक्टेयर की अपेक्षा इस साल 536.21 लाख हेक्टेयर पहुंच चुका है। रबी सीजन के फसलों का सामान्य रकबा 633.98 लाख हेक्टेयर है।

मध्य प्रदेश में गेहूं का रकबा 70 लाख हेक्टेयर से अधिक 

इधर म.प्र. में गेहूं का रकबा 70.69 लाख हे. हो गया है जबकि गत वर्ष इस समय तक 54.06 लाख हेक्टेयर में गेहूं बोया गया था। राज्य में गेहूं लक्ष्य की तुलना में 7 लाख हेक्टेयर अधिक क्षेत्र में बोया गया है। प्रदेश में अब तक कुल रबी फसलों की बुआई 115.09 लाख हेक्टेयर में हुई है जबकि गत वर्ष अब तक 107.39 लाख हेक्टेयर में बोनी हुई थी। 

प्रदेश में बुवाई स्थिति 23 दिसम्बर तक (लाख हे. में)
फसल लक्ष्य बुवाई
गेहूं 6470.69
जौं 1.351.05
चना34.1526.4
मटर3.52.54
मसूर5.54.73
सरसों7.56.99
गन्ना10.81

प्रदेश की दूसरी प्रमुख रबी फसल चने की बोनी 26.40 लाख हेक्टेयर में हुई है जबकि गत वर्ष अब तक 33.40 लाख हेक्टेयर में बोनी हो गई थी। इसी प्रकार राज्य में अब तक मटर 2.54 लाख हे. में, मसूर 4.73, सरसों 6.99 लाख हेक्टेयर में तथा गन्ना 81 हजार हेक्टेयर में बोया गया है। प्रदेश में अब तक कुल अनाज फसलें 71.74 लाख हेक्टेयर में, दलहनी फसलें 34.14 लाख हेक्टेयर में एवं तिलहनी फसलें 8.40 लाख हेक्टेयर में बोई गई हैं।

Share this
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *