राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

किसानों के जीवन में बदलाव लाने वाले बड़वानी के अतुल पाटीदार की पीएम मोदी ने सराहना की

Share

27 अप्रैल 2023, नई दिल्ली: किसानों के जीवन में बदलाव लाने वाले बड़वानी के अतुल पाटीदार की पीएम मोदी ने सराहना की – मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के अतुल पाटीदार की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के जीवन को सरल और सुलभ बनाने के लिए सराहना की। इसके साथ ही श्री मोदी का देशभर में लोकप्रिय कार्यक्रम मन की बात के 100वें एपिसोड के प्रसारण पर आयोजित विशेष कार्यक्रम में अतिथि के रूप में आपको आमंत्रित भी किया हैं।

अतुल पाटीदार की ई-कॉमर्स कंपनी फार्मकार्ट हैं जिसने कोरोना काल जैसे कठिन समय में किसानों को खेती-किसानी का सामान घर बैठे उपलब्ध कराया था। कोरोनाकाल में वैसे तो हर व्यक्ति अपनी रोजमर्रा के उपयोग में आने वाले सभी प्रोडक्ट को ऑनलाईन प्लेटफॉर्म से मंगा लेते थे, लेकिन खेती के उपोयग में आने वाले बीज-खाद और कीटनाशक जैसी महत्वपूर्ण वस्तुँए ऑनलाइन उपलब्ध नहीं हो पा रही थी। 

कोरोना का समय था और उस लॉकडाउन के समय देश के हालात भी बत्तर थे। पूरे देश के साथ किसान भी परेशानी में थे। कोरोना के समय हालात ही ऐसे थे की किसान क्या करें वो खेती कैसे करें जब उनके पास बीज-खाद और कीटनाशक ही नही थें। किसानों की इस समस्या को बड़वानी जिले के अतुल पाटीदार ने समझा। अतुल ने इस परेशानी को दूर करने के लिए एक ऐसी वेबसाइट और एप्लीकेशन डेवलप किया जिससे किसान बिना किसी परेशानी के घर बैठे ही खेती का सामान मंगा सकते हैं। अतुल के द्वारा चलाये गए इस ऐप ने किसानों की खेती से जुड़े कार्यों को कोरोना काल में भी सरल और सुलभ बना दिया था।    

श्री मोदी ने अतुल पाटीदार का जिक्र पहले भी अपने 70वें एपिसोड में किया और अतुल और फार्मकार्ट कंपनी के उल्लेखनीय कार्यों की सराहना की थी।

कौन हैं अतुल पाटीदार ?

मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के युवा उद्यमी अतुल पाटीदार एक किसान परिवार से आते हैं, जिन्होंने 2017 में अपने साथियों के साथ मिलकर किसानों के जीवन को सरल और सुलभ बनाने के लिए फार्मकार्ट कंपनी की शुरूआत की थी। अतुल विश्व के सर्वोत्तम विश्वविद्यालय से 4 स्नात्तकोतर की उपाधियां प्राप्त कर चुकें हैं। अतुल और फार्मकार्ट कंपनी पिछले 5 सालों से किसानों के खेती को सरल और सुविधाजनक बनाने का प्रयास कर रही हैं। 

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements