कीटनाशकों पर जीएसटी 5 प्रतिशत रखने की केंद्र से मांग

Share

5 जुलाई 2022, नई दिल्ली । कीटनाशकों पर जीएसटी 5 प्रतिशत रखने की केंद्र से मांग – 11वें कृषि रसायन सम्मेलन 2022 का आयोजन पिछले सप्ताह फिक्की (FICCI) द्वारा नई दिल्ली में किया गया था। यह सम्मेलन भारत में एग्रोकेमिकल क्षेत्र के विकास के लिए पुन: आवश्यक अनुकूल नीतिगत परिवर्तनों पर विचार-मंथन करने के उद्देश्य से आयोजित किया गया था।

सम्मेलन के मुख्य अतिथि केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर थे। अपने उद्घाटन भाषण में, उन्होंने उल्लेख किया कि निजी क्षेत्र को आगे आना चाहिए और कृषि क्षेत्र में उर्वरकों और कीटनाशकों के उपयोग को कम करने में सरकार का समर्थन करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि ‘कृषि क्षेत्र में किसानों के लिए लाभ बहुत महत्वपूर्ण है। उत्पादन में वृद्धि भी आवश्यक है।’

केंद्र सरकार से अनुरोध

श्री आर.जी. अग्रवाल, अध्यक्ष, फिक्की एग्रोकेमिकल समिति और अध्यक्ष, धानुका समूह ने कहा, ‘हम सरकार से कीटनाशकों पर जीएसटी दरों को कम करने और उर्वरकों की तरह इसे 5 प्रतिशत पर लाने का आग्रह करते हैं ताकि छोटे और सीमांत किसानों को भी लाभ हो। वर्तमान में कीटनाशकों पर जीएसटी 18 प्रतिशत है जबकि उर्वरक पर जीएसटी केवल 5 प्रतिशत है। जीएसटी लागू होने से पहले कीटनाशकों पर वैट (वैल्यू एडेड टैक्स) लगता था जो 12 फीसदी था।

अगर हम जीएसटी से पहले और जीएसटी के बाद कीटनाशक की लागत की तुलना करते हैं, तो लागत में 6 प्रतिशत की शुद्ध वृद्धि होती है जो किसानों द्वारा वहन की जाती है। अगर कृषि रसायनों पर जीएसटी घटाकर 5 प्रतिशत किया जाता है, तो किसानों को कृषि रसायनों पर मौजूदा 18 प्रतिशत की जीएसटी दर की तुलना में लगभग 13 प्रतिशत कम भुगतान करना होगा जिससे खेती की लागत कम होगी और लाभ बढ़ेगा।

महत्वपूर्ण खबर: भोपाल, जबलपुर भी कृषि उड़ान हवाई अड्डों में शामिल होंगे

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.