भोपाल, जबलपुर भी कृषि उड़ान हवाई अड्डों में शामिल होंगे

Share

कृषि उड़ान 2.0 पर हितधारक मूल्यांकन कार्यशाला का आयोजन

5 जुलाई 2022, नई दिल्ली । भोपाल, जबलपुर भी कृषि उड़ान हवाई अड्डों में शामिल होंगे – नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत सरकार ने भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) के सहयोग से कृषि उड़ान 2.0 के मूल्यांकन के लिए कार्यशाला का आयोजन किया। इस सम्मेलन में हवाई कार्गो क्षेत्र के विशेषज्ञों को साथ लाया गया ताकि वे कृषि उड़ान के लाभों को उजागर करते हुए बता सकें कि किस प्रकार घरेलू हवाई कार्गो कंपनियां साथ मिलकर काम कर सकती हैं और पूरी मूल्य श्रृंखला में निर्बाध लेनदेन सृजित कर सकती हैं।

कार्यशाला की अध्यक्षता नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव श्री राजीव बंसल ने की और कार्यक्रम का संचालन नागरिक उड्डयन मंत्रालय की संयुक्त सचिव श्रीमती उषा पाधी द्वारा किया गया। कार्यशाला में मंत्रालय के वरिष्ठ आर्थिक सलाहकार श्री पीयूष श्रीवास्तव, रक्षा मंत्रालय में पूर्वोत्तर क्षेत्र के संयुक्त सचिव श्री सौरभ एंडले, पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय में संयुक्त सचिव श्री आशुतोष डे, एएआईसीएलएएस के सीईओ श्री अजय कुमार और नागरिक उड्डयन मंत्रालय, एएआईसीएलएएस, फिक्की, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, मत्स्य पालन विभाग, देश भर से 26 हवाई अड्डा निदेशक (एपीडी) एवं भारतीय हवाई कार्गो क्षेत्र के अन्य विभिन्न हितधारकों ने भाग लिया।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय में संयुक्त सचिव श्रीमती उषा पाधी ने कृषि उड़ान 2.0 मूल्यांकन पर एक प्रस्तुति दी। इसमें कृषि उद्योग की उपलब्धियों, दायरे, प्रभाव और कृषि उड़ान के भविष्य पर प्रकाश डाला गया। विभिन्न हवाई अड्डों के संबंध में इस योजना के प्रदर्शन पर भी विचार-विमर्श किया गया। यह भी बताया गया कि 5 नए हवाई अड्डों- बेलगावी, झारसुगुडा, जबलपुर, दरभंगा और भोपाल को मौजूदा 53 कृषि उड़ान हवाई अड्डों की सूची में शामिल किया जाना है। इसके साथ ही कृषि उड़ान में 58 हवाई अड्डे सक्रिय रूप से भाग लेंगे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.