देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने की दिशा में बढ़ रहा राजस्थान : मुख्यमंत्री

Share

अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में 3 लाख करोड़ से अधिक के एमओयू

19 फरवरी 2022, जयपुर ।  देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने की दिशा में बढ़ रहा राजस्थान : मुख्यमंत्री – मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि निवेश को प्रोत्साहन देने की राज्य सरकार की नीतियों का परिणाम है कि आज राजस्थान सौर ऊर्जा के क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य बन कर उभरा है। रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में देश-विदेश की जानी-मानी कंपनियां और इन्वेस्टर्स प्रदेश में निवेश के लिए आ रहे हैं। हमारा प्रयास है कि राजस्थान सोलर उपकरणों के मैन्यूफैक्चरिंग हब के रूप में भी विकसित हो। निवेशक इस दिशा में बढ़-चढक़र अपनी रूचि दिखाएं। राज्य सरकार उन्हें भरपूर सहयोग देगी।

श्री गहलोत मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में निवेशकों के साथ 3 लाख 5 हजार करोड़ के एमओयू एवं एलओआई हस्ताक्षर कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस निवेश से प्रदेश में करीब 90 हजार मेगावाट से अधिक अक्षय ऊर्जा का उत्पादन होगा। इस अवसर पर निवेशकों व राज्य सरकार के बीच हस्ताक्षरित एमओयू एवं एलओआई का आदान-प्रदान किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस गति से राज्य में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में काम हो रहा है, वह दिन दूर नहीं जब राजस्थान देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने की दिशा में बड़ी भागीदारी निभाएगा।
राजस्थान को रिन्यूएबल एनर्जी का हब बनाने के लिए हमारी सरकार ने नई सौर ऊर्जा नीति-2019 तथा विंड एंड हाइब्रिड एनर्जी पॉलिसी जारी की थी। निवेशकों को अनुकूल माहौल प्रदान करने के लिए रिप्स-2019, वन स्टॉप शॉप प्रणाली, एमएसएमई एक्ट जैसे नीतिगत निर्णय लिए गए।

कार्यक्रम में राजस्थान अक्षय ऊर्जा निगम के 5 सार्वजनिक उपक्रमों तथा निजी क्षेत्र की कम्पनियों के साथ 3 लाख 5 हजार करोड़ रूपए के 90 गीगावाट से अधिक क्षमता के एमओयू एवं एलओआई हस्ताक्षरित किए गए।  राजस्व मंत्री श्री रामलाल जाट ने कहा कि राजस्थान शांतिप्रिय एवं निवेश के लिए सर्वाधिक अनुकूल प्रदेश है। उद्योग मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत ने कहा कि निवेशकों को सरकार अनुकूल वातावरण एवं पूर्ण सहयोग प्रदान कर रही है। ऊर्जा राज्यमंत्री श्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि पश्चिमी राजस्थान के विभिन्न जिलों में सौर ऊर्जा उत्पादन के लिए 1.60 लाख हैक्टेयर से अधिक अनुकूल भूमि उपलब्ध है, जहां सोलर पार्कों की स्थापना की जा रही है।

कार्यक्रम में अतिरिक्त मुख्य सचिव ऊर्जा श्री सुबोध अग्रवाल, सुखवीर एग्रो समूह के निदेशक श्री सुखवीर सिंह, टिहरी हाइड्रो डवलपमेंट कॉर्पोरेशन के सीएमडी श्री आरके विश्नोई, एक्सेस एनर्जी के सीएमडी श्री रवि कुमार रेड्डी, एनटीपीसी रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड के सीईओ श्री मोहित भार्गव, सतलज जल विद्युत निगम के सीएमडी श्री नंदलाल शर्मा, सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ इण्डिया की एमडी श्रीमती सुमन शर्मा भी उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: राज्य में रंगीन फूलगोभी उगाने लगे हैं किसान

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.