सरकारी योजनाएं (Government Schemes)किसानों की सफलता की कहानी (Farmer Success Story)

राजस्थान में खेतों में तारबंदी से खुशहाल हो रहे किसान, अनुदान पाकर नंदलाल की राह हुई सुगम

Share

14 मई 2023, जयपुर । राजस्थान में खेतों में तारबंदी से खुशहाल हो रहे किसान, अनुदान पाकर नंदलाल की राह हुई सुगम –  किसान कल्याण को समर्पित राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों को समृद्ध और खुशहाल बनाने के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना शुरू की गई है। योजना में राजस्थान फसल सुरक्षा मिशन के तहत खेतों की जानवरों से सुरक्षा के लिए राज्य सरकार द्वारा तारबंदी पर अनुदान देने की अपूर्व पहल की गई है। इस योजना का लाभ लेकर किसान अपने खेतों में तारबंदी कर रहे हैं और जिससे उनके खेतों में खड़ी फसलों का नील गाय, आवारा पशु व जंगली जानवरों से होने वाले नुकसान से बचाव हो रहा है। इससे किसानों के फसल उत्पादन में तो वृद्धि हुई ही है, साथ ही उनकी आय में भी बढ़ोतरी हुई है।

चित्तौडग़ढ़ जिले के ग्राम जयसिंहपुरा निवासी नंदलाल धाकड़ भी मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत का आभार व्यक्त करते हुए कहते हैं कि राज्य सरकार की इस योजना के कारण उनके खेतों को न केवल सुरक्षा मिली है साथ ही फसल का नुकसान होने से भी बच जाता है। वे कहते हैं कि राज्य सरकार की ओर से वर्ष 2021 में उन्हें कृषक समूह में तारबंदी के लिए 19 हजार 300 रुपये की अनुदान राशि दी गयी थी। वे बताते हैं कि उन्होंने सीताफल और अमरूद का बगीचा लगा रखा है। साथ ही वे गेहूं,मेथी, सरसों और लहसुन की खेती भी करते हैं। तारबंदी होने से पहले अक्सर नीलगाय और जंगली पशु फसल को खराब कर देते थे। इन जानवरों को रोकने के लिए उन्हें कड़ाके की सर्दी में रात को खेत पर ही रुकना पड़ता था, जिससे कई बार उनकी तबियत भी खराब हो जाती थी।

 नंदलाल ने बताया कि तारबंदी के बाद से उनकी आय में लगभग एक लाख रुपये तक कि वृद्धि हुई है। साथ ही अब वे निश्चिंत होकर रात को घर में सो सकते हैं, क्योंकि अब रात में खेतों की रखवाली करने की फिक्र नहीं करनी पड़ती। नंदलाल की ही तरह चित्तौडग़ढ़ के किसान भैरूलाल और गोपाललाल भी राज्य सरकार का योजना में लाभ देने के लिए धन्यवाद करते हैं। इन दोनों को कृषक समूह में खेत की तारबंदी के लिए सहायता राशि दी गई है। योजना के तहत भैरूलाल को 35 हजार 800 रुपये और गोपाललाल को 18 हजार 700 रुपये की की राशि मिली है।

Share
Advertisements