किसानों की सफलता की कहानी (Farmer Success Story)

निरंतर प्रगति पर ईशान की पशु आहार इकाई

Share
  • (शैलेष ठाकुर, देपालपुर)

14 फरवरी 2023,  भोपाल । निरंतर प्रगति पर ईशान की पशु आहार इकाई – आज के युवा यदि लीक से हटकर कुछ काम करने की ठान ले, तो उसे पूरा करके ही दम लेते हैं। इसे साबित किया है देपालपुर तहसील के ग्राम करवासा के 23 वर्षीय युवा श्री ईशान राठौर पिता स्वर्गीय महेश कुमार राठौर ने। इन्होंने पशु आहार निर्माण की इकाई अपने गांव में ही स्थापित कर स्वयं का उद्योग स्थापित किया है। इनके स्व रोजग़ार के इस प्रयास से गांव के लोगों को रोजग़ार मिला है । इनका उद्योग निरंतर प्रगति कर रहा और वार्षिक टर्न ओवर 20 लाख रुपए तक पहुँच गया है।

श्री ईशान ने कृषक जगत को बताया कि बचपन से ही कुछ नया करने की चाहत थी। 12वीं उत्तीर्ण करने के बाद इंटीरियर डिजाईनिंग का कोर्स और बाद में ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र  में भी काम किया ,लेकिन संतुष्टि नहीं मिल रही थी। मैं स्वयं का व्यवसाय करना चाहता था। कई व्यवसाय के बारे में सोचा, अंतत: पशुआहार निर्माण की इकाई स्थापित करने का विचार आया।  अपने भाई से चर्चा की तो उन्होंने पीएमईजीपी योजना के बारे में बताया। इसके बाद बैंक ऑफ इंडिया शाखा बेटमा में आवेदन किया। बैंक द्वारा 25 लाख रुपये का ऋण प्रदान किया गया। पशु आहार निर्माण की इकाई ग्राम में ही स्थापित की, ताकि गांव वालों को रोजग़ार मिल सके। श्री राठौर ने बताया कि उत्पाद का नाम तिरुमाला पशु आहार है, जिसमे प्रोटीन, चिकनाई, फाइबर, नमी,एसिड इंसोल्यूबल ऐश, केल्शियम, फास्फोरस, नमक, विटामिन, मेटाबोलायबल एनर्जी, ये सभी तत्व भारत सरकार के मानक अनुरूप समाहित किए गए हैं। पशु आहार खिलाने के बाद पशुओं के दूध में 20 प्रतिशत तक वृद्धि होती है। इनका उद्योग निरंतर प्रगति कर रहा है और वार्षिक टर्नओवर लगभग 20 लाख रुपये तक पहुंचा गया है , जिसे और आगे बढ़ाने का विचार है। इनकी इस उपलब्धि पर तीन माह पूर्व इन्हें मुख्यमंत्री द्वारा पुरस्कृत भी किया गया था।

महत्वपूर्ण खबर: गेहूं की फसल को चूहों से बचाने के उपाय बतायें

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *