‘कदूदगांव’ पहुंची केन्द्र सरकार

धार। भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री जे.के मोहपात्रा तथा अतिरिक्त सचिव श्री अमरजीत सिन्हा नालछा विकासखण्ड के ग्राम सुलीबयड़ी, आंवलिया, भीलबरखेड़ा व जीरापुरा में पहुँचे तथा केन्द्र सरकार द्वारा संचालित ग्रामीण विकास संबंधी योजनाओं का अवलोकन

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

बोनी के बाद का समय महत्वपूर्ण

खरीफ फसलों की बुआई जोरों पर चालू है, वर्षा की लुका-छिपी के साथ-साथ बुआई करना ‘तू डाल-डाल मैं पात-पात के समान ही होती है। बुआई करने के बाद कृषि कार्य बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। परंतु देखा यही गया है कि

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

धान में खरपतवार मिटायें उपज बढ़ाएं

नियंत्रण के उपाय शुद्ध बीजों का प्रयोग- बुआई हेतु प्रमाणित एवं शुद्ध बीजों का प्रयोग किया जाना चाहिए। आजकल बोये जाने वाले अधिकांश बीज अशुद्धताओं से परिपूर्ण होते हैं तथा प्रतिवर्ष खरपतवारों के प्रसारण में योगदान देते हैं। प्राय: यह

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

जिद्दी खरपतवारों का सटीक इलाज

दूब, मोथा, कांस जैसे जिद्दी खरपतवार उत्पादन वृद्धि के रोड़ा हैं। दूब – दूब घास एक बहुवर्षीय एक पत्री खरपतवार है, जिसकी जड़ें बहुत ज्यादा फैलती हैं। कभी-कभी बीजों से भी पौधे बनते हैं। नम व गर्म मौसम में अधिक

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

ओशन का ‘हनी बी’ दे भरपूर उत्पादन

इंदौर। जैसा कि नाम से स्पष्ट है, हनी बी मधुमक्खियों को अपनी ओर आकर्षित करता है। इसके इस्तेमाल से मधुमक्खियां फसल पर आती हैं और अधिकतम मात्रा में परागण करती हैं। इस प्रकार उत्पादन में आशातीत वृद्धि मिलती है। ओशन

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मुर्गीपालन से किसान की आय में इजाफा

कुक्कुट पालन किसानों की आर्थिक अवस्था सुधारने का महत्वपूर्ण उद्योग है। कुक्कुट पालन से कम समय व कम व्यय में अधिक आय प्राप्त की जा सकती है। हमारे देश में अभी प्रति व्यक्ति अंडा सेवन व मांस सेवन अन्य विकासशील

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

मुर्गियों की गर्मियों में देखभाल

मुर्गी दाना कम खाती है और इससे प्राप्त ऊर्जा का बड़ा हिस्सा उनके शरीर की गर्मी बरकरार रखने हेतु खर्च हो जाता हैं अत: उनका अण्डा उत्पादन कम हो जाता हैं। अण्डों का आकार तथा वजन भी कम हो जाता

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

जीरो बजट में करें गन्ने की खेती

(मनीष पाराशर/यशवंत कुशवाह) खरगोन। गन्ना जोखिम रहित और विपरीत मौसम में भी उचित उत्पादन देने वाली फसल है। इससे नकद आय प्राप्त होती है, वहीं यदि किसान कुछ युक्तियों को अपनाएं तो वे अंतरवर्तीय फसलें लगाकर गन्ना फसल की लागत

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

सब्जियों की अच्छी फसल के लिए छिड़कें सब्जी स्पेशल

सूक्ष्म पोषक तत्वों की भूमिका मृदा एवं पर्णवृन्त विश्लेषण के आधार पर यह पाया गया है कि कुल मिलाकर भारत में उगने वाली 40 से 60 प्रतिशत तक की फसलों में कभी न कभी किसी एक या अन्य सूक्ष्म पोषक

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

नियो हाइड्रोपोनिक विधि से बनाएं छत बगीचा कम मिट्टी और पानी का अधिकतम

(मनीष पाराशर) इंदौर। छत पर गमलों, लटकाने वाली बॉस्केट, डलिया में मौसमी सब्जियां, औषधीय पौधे, फूल इत्यादि नाम मात्र के खर्च से उगाना संभव है। कृषि महाविद्यालय के पूर्व डीन डॉ. विनोद लाल श्रॉफ ने कृषक जगत से चर्चा में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें