रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

Share
  • सोयाबीन की फलियों का रंग हल्के पीले से भूरा बदलने एवं परिपक्वता पर ही सोयाबीन की कटाई करें एवं दो-तीन दिन धूप में सुखाने के पश्चात गहाई करें अथवा ढेर लगाकर तिरपाल से ढक दें।
  • धान में जीवाणु झुलसा रोग के नियंत्रण हेतु स्ट्रेप्टोसाइक्लीन दवा 2.0 ग्राम/ 15 लीटर पानी एवं कॉपर आक्सीक्लोराइड दवा 3 ग्राम/लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़कें।
  • कपास में सफ़ेद मक्खी का आक्रमण देखा जा रहा है। इसके नियंत्रण हेतु इमिडाक्लोप्रिड दवा की 1.0 मिली लीटर मात्रा प्रति लीटर पानी में घोल कर छिड़कें।
  • जल्दी पकने वाली मक्का की फसल कटाई अवस्था में आ गई है वह कटाई तुरंत पश्चात खलिहान में लाकर धूप में सुखाएं।
  • अरहर में पत्ती लपेटक का अधिक प्रकोप होने पर इसके नियंत्रण हेतु इंडक्साकार्ब 5 मिली प्रति 10 लीटर की दर से छिड़कें।
  • चूहों के प्रकोप से बचाव हेतु मेढ़ों को साफ रखें एवं जहां प्रकोप अधिक हो वहां पहले खेत में चूहों के सारे बिलों को बंद कर दें तत्पश्चात जिंक फास्फाइड एवं 25 ग्राम सारसों का तेल मिला कर बिलों के पास रखें।

उद्यानिकी

  • रबी फसलों जैसे आलू, मटर एवं लहसुन की बोवाई के लिए खेत की तैयारी करें और रबी प्याज,फूलगोभी व अगेती सब्जियों की नवंबर-दिसंबर की रोपाई हेतु रोपणी तैयार करें।
  • बैंगन, टमाटर, खरीफ प्याज की अगेती फूलगोभी, मिर्च आदि की निंदाई करें तथा सब्जियों पर सफ़ेद मक्खी या रस चूसक कीटों का प्रकोप दिखाई देने पर इमिडाक्लोप्रिड दवाई 1.0 मिली प्रति 3 लीटर पानी में मिलाकर छिड़कें।

पशुपालन

  • पशुओं को हरे चारे की व्यवस्था हेतु चरी की उन्नत किस्मों की बुबाई करें। पशुओं में गलघोंटू एवं एकटंगिया व छड़ रोग का पशु चिकित्सक की सलाह से टीकाकरण अवश्य करायें।
  • मुर्गीघर एवं पशुशाला म किलनी एवं चीमड़ी के नियंत्रण के लिए मैलाथियान दवा 3 मि.ली. प्रति लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।

•      ब्रीडरचूजोंएवंमुर्गियोंकोबीमारीसेबचानेकेलिएमुर्गीयोंकेनीचेविछावनडालेंतथाबारबारबदलतेरहें।
•      इससमयमछलीविक्रयनकरेंतथानवीनमछलीबीजडालेंतथातालाबसेअनावष्यकजीवजन्तुओंतथाअवांछनीयमछलियोंकीसफाईकरें।

अधिक जानकारी के लिये रेडियो पर सुनें किसान संदेश आकाशवाणी
के एफ एम विविध भारती भोपाल 103.5 मेगा हा.,
जबलपुर 102.9 मेगा हा., पर शाम 6.30 से 6.35बजे एवं आकाशवाणी छिंदवाड़ा 675 कि.हा.पर शाम 7.00 से 7.05 बजे।
टोल फ्री नं. 18004198800 पर
संपर्क करें सुबह 9.30 से शाम 7.30 बजे तक
Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *