राष्ट्रीय फसल बीमा योजना में प्रदेश के 20 लाख से अधिक किसानों को मिलेगा लाभ

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

भोपाल। राष्ट्रीय फसल बीमा योजना में खरीफ. 2016 में सूखे से प्रभावित मध्यप्रदेश के 20 लाख 45 हजार 794 किसानों के बैंक खाते में 4414 करोड़ की राशि इसी माह समायोजित की जायेगी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आजादी के बाद देश में पहली बार किसी राज्य को फसल बीमा की अब तक की सबसे बड़ी दावा राशि प्राप्त हुई है।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा किसानों को खरीफ  – 2015 में सूखे के कारण हुए  नुकसान, की भरपाई के लिये प्रदेश में राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना का सफल क्रियान्वयन किया गया। कुल 28 लाख 78 हजार किसान को इस योजना से जोड़ा गया। इनमें से प्रभावित 20 लाख 45 हजार 794 बीमित किसान को बीमा राशि दी जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में 2027 करोड़ केन्द्रांश के रूप में जमा किये गये। राज्य सरकार ने सितम्बर, 2016 में ही 2027 करोड़ राज्यांश के रूप में बीमा कम्पनी को उपलब्ध करवाये।
राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना में आगर-मालवा के 57 हजार 578, अलीराजपुर 21 हजार 092, अनूपपुर के 6598, अशोकनगर के 154, बालाघाट के 19 हजार 133, बड़वानी 26 हजार 126, बैतूल के 46 हजार 516, भिण्ड के 828, भोपाल के 32 हजार, बुरहानपुर के 1980, छतरपुर के 17 हजार 824, छिन्दवाड़ा के 35 हजार 920, दमोह के 36 हजार 558, दतिया के 4, देवास के 1 लाख 58 हजार 500, धार के 25 हजार 627, डिण्डोरी के 5640, गुना के 34 हजार 296, ग्वालियर के 487, हरदा 51 हजार 813, होशंगाबाद 71 हजार 513, इंदौर 59 हजार 123, जबलपुर 6363, झाबुआ 8495, कटनी 13 हजार 421, खण्डवा 34 हजार 582, खरगोन 6927, मण्डला 7604, मंदसौर 1 लाख 48 हजार 160, मुरैना 9918, नरसिंहपुर 32 हजार 197, नीमच 75 हजार 481, पन्ना 15 हजार 549, रायसेन 54 हजार 971, राजगढ़ 1 लाख 20 हजार 497, रतलाम 41 हजार 829, रीवा 29 हजार 938, सागर 90 हजार 317, सतना 32 हजार 969, सीहोर 1 लाख 44 हजार 936, सिवनी 53 हजार 612, शहडोल 9657, शाजापुर 1 लाख 01 हजार 806, श्योपुर 645, शिवपुरी 20 हजार 608, सीधी 2269, सिंगरौली 2594, टीकमगढ़ 17 हजार 357, उज्जैन 1 लाख 41 हजार 538, उमरिया 5346 और विदिशा के 1 लाख 06 हजार 898 किसान लाभान्वित होंगे।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 5 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।