खरीफ फसलों में पौध संरक्षण एवं पोषक तत्व प्रबंधन की सलाह

Share

भोपाल। उप संचालक कृषि जिला भोपाल श्री ए.के. नेमा, सहायक संचालक श्री आर.डी. मंडलोई, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी फंदा श्री एस.के. शर्मा एवं श्री रवीन्द्र श्रीवास्तव कृ.वि. अधिकारी फन्दा द्वारा ग्राम भैसाखेड़ी, कोलूखेड़ी, भौरी, खजूरी एवं फन्दा की खरीफ फसलों का निरीक्षण किया गया। सोयाबीन फसल में सफेद मक्खी, सेमीलूपर, गर्डलबीटल, चने की हरी इल्ली तम्बाकू की इल्ली के नियंत्रण के संबंध में कृषकों को जानकारी दी गई जिन खेतों में जल भराव की स्थिति देखी गई वहां जल निकास की सलाह दी गई। धान फसल में पोषक तत्व प्रबंधन के संबंध में चर्चा की गई। समन्वित कीट नियंत्रण एवं पौध पोषण जैविक खेती के महत्व के संबंध में कृषकों से चर्चा की। सूरजधारा एवं अन्नपूर्णा योजनान्तर्गत प्रदाय किये गये बीज के फसल प्रदर्शन का अवलोकन किया गया। वर्तमान में फसल स्थिति सामान्य है। सोयाबीन फसल में कहीं-कहीं सफेद मक्खी का प्रकोप देखने में आया इसके नियंत्रण के लिये इमीडाक्लोपिड 5-10 एमएल (संद्रता अनुसार)+25 ग्राम. मेन्कोजेब + कार्बेंडाजिम प्रति पंप घोल बनाकर फसल पर छिड़काव करने की कृषकों को खेतों पर सलाह दी गई। सफेद मक्खी से ग्रसित पौधे की पत्ती अथवा पौधे को खेत से बाहर करने के लिये कृषकों को समझाइश दी गई। सोयाबीन फसल में इल्ली नियंत्रण, नंीदा नियंत्रण के बारे में कृषकों को जानकारी दी गई।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.