गेहूं निर्यात प्रतिबंध  के विरोध में दो दिन प्रदेश की अनाज मंडियां बंद

Share

16 मई 2022, इंदौर । गेहूं निर्यात प्रतिबंध  के विरोध में दो दिन प्रदेश की अनाज मंडियां बंद केंद्र सरकार द्वारा तत्काल प्रभाव से गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के विरोध में सकल अनाज दलहन-तिलहन व्यापारी महासंघ समिति के आह्वान पर 17 और 18 मई को प्रदेश की मंडियों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। यह जानकारी सकल अनाज दलहन-तिलहन व्यापारी महासंघ समिति और श्री इंदौर अनाज तिलहन व्यापारी संघ द्वारा दी गई है।

सकल अनाज दलहन-तिलहन व्यापारी महासंघ समिति के अध्यक्ष श्री गोपाल दास अग्रवाल नेकृषक जगत को बताया कि व्यापारियों से कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा गेहूं निर्यात पर तुरंत प्रतिबंध लगाने के विरोध में 17 और 18 मई को प्रदेश की मंडियों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। प्रदेश के सभी व्यापारी एकता का परिचय देकर इसे सफल बनाने का प्रयास करें। यदि सरकार निर्णय स्थगित नहीं करती है, तो आगे का निर्णय व्यापारियों बंधुओं के सुझाव  पर लिया जाएगा।


वहीं दूसरी ओर श्री इंदौर अनाज तिलहन व्यापारी संघ के मंत्री श्री वरुण मंगल के अनुसार केंद्र सरकार द्वारा तत्काल प्रभाव से गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के कारण प्रदेश के व्यापारियों के समक्ष समस्या उत्पन्न हो गई है। निर्यातकों  द्वारा प्रदेश के हज़ारों व्यापारियों का लाखों टन गेहूं देश के विभिन्न बंदरगाहों पर संभालने से मना कर दिया गया है। अतः सकल अनाज दलहन-तिलहन व्यापारी महासंघ के आह्वान पर 17  और 18  मई को संयोगिता गंज (छावनी ) इंदौर मंडी में  नीलामी कार्य स्थगित रहेगा।

महत्वपूर्ण खबर: ब्रीडर सीड के दामों में 10 प्रतिशत तक की बढ़ौत्री

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.