अंतर्राष्ट्रीय महिला कृषक दिवस पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

Share

23 अक्टूबर 2020, इंदौर। अंतर्राष्ट्रीय महिला कृषक दिवस पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित संयुक्त राष्ट्र संघ के अंतरराष्ट्रीय महिला कृषक दिवस के उपलक्ष्य में भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान,इंदौर द्वारा ‘सोयाबीन से पोषण’ विषय पर गत दिनों एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम सोलिडारिडेड भोपाल और कृषि विज्ञान केंद्र कस्तूरबा ग्राम इंदौर के सहयोग से आयोजित किया गया।इसमें 32 ग्रामीण महिला प्रतिभागियों ने भाग लिया। संस्थान के कर्मचारी वर्चुअल मोड में शामिल हुए।

महत्वपूर्ण खबर : कृषि उपज मंडी समिति इंदौर में कुल आवक 10982 क्विंटल रही

इस अवसर पर डॉ. अर्चना राज सिंह(पूर्व डीन होम साइंस,एसकेआर एयू,बीकानेर)ने ‘घर परिवार को कोविड -19 में कैसे सुरक्षित रखें’ विषय पर विशेष व्याख्यान में महिलाओं की भूमिका पर ज़ोर देते हुए संतुलित आहार,हाथ धोने की सही विधि और प्रतिरक्षा बूस्टर काढा बनाने के तरीके बताए। वैज्ञानिक डॉ. नेहा पांडेय ने सोयाबीन के फायदे बताकर सोया मिल्क टोफू ओमकारा भजिए और सोया नट्स बनाने का सजीव प्रदर्शन किया। वर्चुअल मोड में मिस प्रिया पागनिस, वरिष्ठ कार्यक्रम समन्वयक सॉलिडरीडेड ने महिलाओं की भूमिका और उनकी कड़ी मेहनत की प्रशंसा कर कहा कि महिला सशक्तिकरण आय सृजन के नए अवसर प्रदान कर रहा है । डॉक्टर आलोक देशवाल, समन्वयक कस्तूरबा ग्राम कृषि विज्ञान केंद्र ,इंदौर में विभिन्न आय सृजन योजनाओं के बारे में जानकारी दी ।

सोयाबीन अनुसंधान संस्थान ,इंदौर की कार्यवाहक निदेशक डॉ नीता खांडेकर ने महिला किसानों की तारीफ कर लैंगिक समानता के लिए सभी प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया और उद्यमशीलता की गतिविधियों के लिए ज्ञान और कौशल के विकास पर बल दिया ।आपने समूह गठन की जरूरत को दोहराया और ग्रामीण युवाओं को कच्चे माल की खरीद के साथ-साथ उत्पादों के विपणन के लिए कुटीर स्तर के उत्पादन से जोड़ने की बात कही। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का समग्र समन्वयन डॉ. अनीता रानी, प्रमुख वैज्ञानिक, पादप प्रजनन ने किया

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.