मदार में पोषण के लिए पौधे पर प्रशिक्षण

Share

24 सितंबर 2020, राजस्थान। मदार में पोषण के लिए पौधे पर प्रशिक्षण – मानव शरीर को पोषण एवं स्वास्थ्य प्रदान करने में पौधों का अत्यंत महत्व है विभिन्न भोज्य पदार्थ जैसे अनाज, दालें,फल. सब्जियां एवं गुणकारी औषधियां हमें पेड़ पौधों से ही प्राप्त होते हैं इन्हीं भोज्य पदार्थों का  उपयोग कर पौष्टिकता से भरपूर भोजन के सेवन से स्वस्थ एवं खुशहाल जीवन पाया जा सकता है। 

महत्वपूर्ण खबर : कल से अनाज व्यापारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल

वर्तमान समय में समूचा विश्व कोरोना जैसी  भयंकर महामारी में जूझ रहा है ऐसे समय में पौष्टिक संतुलित भोजन का महत्व और अधिक बढ़ जाता है। यह शरीर को स्वस्थ रखता है एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है जिससे हमारा शरीर विभिन्न बिमारियों से बचा रहता है पौधे हमें विभिन्न पौष्टिक  तत्व जैसे कार्बोहाइड्रेटए प्रोटीन वसा, विटामिन्स एवं खनिज लवण प्रदान कर हमें उच्च पोषण स्तर एवं स्वस्थ जीवन प्रदान करते हैं। 

सितम्बर का माह प्रतिवर्ष पोषण जागरूकता को बढाने के लिए राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जाता है, इसी के अंतर्गत  अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना. गृहविज्ञान ; खाद्य एवं पोषण इकाई, महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रोधोगिकी विश्वविद्यालयए उदयपुर द्वारा अनुसूचित जाति सब प्रोजेक्ट अंतर्गत पंचायत समिति बडगांव के मदार गाँव में महिलाओ के लिए ष्पोषण के लिये पौधे प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कोविड-19  गाइडलाइन की पालना करते हुए किया गया। 

कार्यकर्म समन्वयक  वैज्ञानिक डॉ.विशाखा सिंह ने  पौधों का पोषण में अत्यंत महत्व बताया  उन्होंने कहा कि हमें विभिन्न सब्जियों एवं फलों के पौधे अपने घरों में आवश्यक रूप से लगाने चाहिए ताकि परिवार के सभी सदस्यों की  जरुरी विटामिन एवं खनिज लवणों की पूर्ति हो सके और शरीर में संक्रमण व बिमारियों से लड़ने की ताकत बनी रहे। प्रशिक्षण में महिलाओ को स्वस्थ भोजन का महत्वए भोजन की पोषण गुणवत्ता एवं रोग।

प्रतिरोधक क्षमता बढाने के तरीके भी बताये

वैज्ञानिक डॉ सुमित्रा  मीणा ने भोजन के पोषक तत्वों के महत्वए भोज्य समूहों  एवं संतुलित भोजन बनाने के तरीकों पर चर्चा की। उद्यान विभाग से पधारे डॉण् कपिल आमेटा  ने महिलाओ को भोजन में फल एवं सब्जियों के महत्व और उनकी बागवानी जैविक माध्यम से करने के तरीको की जानकरी दीण्  श्री मति शिप्रा चेलावत ने महिलाओं को पोष्टिक लड्डू बनाने की विधि बतायी।

सभी महिलाओं को पोषक लड्डू सब्जियों के बीजए टमाटर की पौध  और फलदार पोधौं  ;अमरुदए पपीता एवं निम्बूद्ध तथा वर्मीकम्पोस्ट  का वितरण किया गया इस प्रशिक्षण में अनुसुचित जाति के 25 कृषक महिलाओं ने भाग लिया। 

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.