राज्य कृषि समाचार (State News)

मध्यप्रदेश में आगामी 4 -5 दिन तक मानसून की सक्रियता नहीं

Share

15 जून 2024, भोपाल: मध्यप्रदेश में आगामी 4 -5 दिन तक मानसून की सक्रियता नहीं – मौसम केंद्र , भोपाल से मिली जानकारी के अनुसार   पिछले  24  घंटों के  के दौरान  मध्यप्रदेश  के भोपाल, इंदौर, उज्जैन ,  ग्वालियर , रीवा, जबलपुर, शहडोल, सागर संभागों के जिलों में कहीं – कही; नर्मदा पुरम संभाग के जिलों में  अनेक  स्थानों  वर्षा  दर्ज़ की गई एवं शेष सभी संभागों के जिलों में मौसम मुख्यतः  शुष्क रहा। कल से आज  प्रातः तक अनूपपुर, अशोकनगर, आगर, इंदौर,  उज्जैन , कटनी, खरगोन, गुना, छिंदवाड़ा , जबलपुर, डिंडोरी, दमोह, देवास, धार, नरसिंहपुर, नर्मदापुरम, नीमच, पन्ना ,पांढुर्ना, बड़वानी,बालाघाट, बुरहानपुर, बैतूल, मंडला, मऊगंज, राजगढ़, विदिशा , शहडोल, सागर, सिंगरौली ,सिवनी , सीहोर और  हरदा  में गरज-चमक के साथ तेज़ हवाएं  चलीं।

मौसम की स्थिति – मानसून की उत्तरी सीमा नवसारी, जलगांव, अमरावती, चंद्रपुर, बीजापुर, सुकमा, मलकानगिरी  , विजयनगरम और  इस्लामपुर  से होकर गुजर रही है। दक्षिण-पश्चिमी मानसून  के महाराष्ट्र , छत्तीसगढ़, ओडिशा , तटीय  आंध्र प्रदेश  और  उत्तर पश्चिमी  बंगाल की खाड़ी,गंगीय  पश्चिम  बंगाल के कुछ हिस्सों , उप हिमालयी   पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों में और अगले 4-5 दिनों के दौरान बिहार  के कुछ और हिस्सों में  आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल है । साथ ही एक चक्रवातीय  परिसंचरण दक्षिण -पश्चिम राजस्थान के ऊपर सक्रिय है।

पूर्वानुमान –मौसम  केंद्र भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक श्री वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि पिछले 2 -3  दिन से मप्र के अलग-अलग हिस्सों में धूल भरी आंधी और ओलावृष्टि हो रही है। राजस्थान में एक चक्रवातीय घेरा सक्रिय है। पूर्व से पश्चिम में उप्र से मेघालय तक एक ट्रफ लाइन सक्रिय है। साथ ही गुजरात के ऊपर  भी दक्षिण -पश्चिमी हवाओं का घेरा सक्रिय है। इसीलिए अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से थोड़ी नमी आ रही है , लेकिन मानसून की गति धीमी पड़ चुकी है। अगले 3 – 4  दिन तक मानसून के सक्रिय होने की संभावना नहीं है। 19 -20 जून के आसपास बालाघाट -डिंडोरी क्षेत्र में बारिश की गतिविधियां शुरू हो सकती है। जबकि 22 -23  जून से पूर्वी मप्र के दूसरे हिस्सों में भी वर्षा की गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। अगले 5 दिनों के पूर्वानुमान में जहाँ ऑरेंज अलर्ट दिया गया है उनमें आगर मालवा , देवास, सीहोर, खरगोन, खंडवा, बैतूल , छिंदवाड़ा ,पांढुर्ना , सिवनी ,मंडला, बालाघाट जिलों में कहीं -कहीं 50 -60  किमी की रफ्तार से तेज़ हवाएं चलेंगी। गरज चमक के साथ  आंधी तूफ़ान और इंदौर -उज्जैन संभाग के कुछ  जिलों में ओलावृष्टि की संभावना है।  

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements