राज्य कृषि समाचार (State News)

श्योपुर में चंबल सूक्ष्म सिंचाई परियोजना की वस्तुस्थिति

Share

15 जून 2024, श्योपुर: श्योपुर में चंबल सूक्ष्म सिंचाई परियोजना की वस्तुस्थिति – कार्यपालन यंत्री, जल संसाधन संभाग, श्योपुर द्वारा चंबल सूक्ष्म सिंचाई परियोजना के संबंध में वस्तु स्थिति जारी करते हुए कहा गया है कि इस नहर से संबंधित सभी किसानों को पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध होगा।  नवंबर  से मार्च तक इस नहर के माध्यम से किसानों को पानी की पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति की जायेगी।

कार्यपालन यंत्री श्री आरएन शर्मा ने बताया कि वर्ष 2023-24 में सिंचाई का कार्य प्रारंभ हुआ था, चक जीएम-1 एवं चक जीएम-2 (7500 हेक्टयर क्षेत्र) में जांच एवं परीक्षण कर सिंचाई के लिए पानी दिया गया था, लेकिन तब हुई अचानक वर्षा के कारण सिंचाई के लिए पानी की मांग शून्य हो गई, चूँकि  चंबल सूक्ष्म सिंचाई परियोजना के कमांड क्षेत्र में सरसों की फसल होती है, इस कारण बचे हुए रबी समय में सिंचाई की मांग बहुत कम रही, तब तक सरसो की फसल के 2200 हेक्टयर क्षेत्र में सिंचाई हो चुकी थी।

श्री शर्मा ने  बताया कि मैसर्स डब्ल्यू पीआईएल कंपनी द्वारा जांच एवं परीक्षण तथा सिंचाई सत्र के दौरान कमांड एरिया में जहां पाइप में लीकेज की जो समस्याएं आई थी, उनकी मरम्मत कर दूर कर लिया गया है। चक जीएम-3 की जांच एवं परीक्षण के पूर्व ही सभी कार्य पूर्ण कर लिये गये है तथा जीएम-3 (4500 हेक्टेयर में) सिंचाई की जायेगी। इस परियोजना में सिंचाई भूमिगत पाइप से दबाव पद्धति स्प्रिंकलर द्वारा की जाना है। इस संबंध में  किसानों को भी प्रेरित किया जा रहा है कि वे स्प्रिंकलर के माध्यम से सिंचाई को  अपनाएं । परियोजना के  नियमों  के अनुसार आगामी 5 साल तक इसका संचालन, संधारण संबंधित कंपनी द्वारा ही किया जायेगा। अतः यह कहना निराधार है कि परियोजना से आधे क्षेत्रफल में ही सिंचाई हो रही है। परियोजना के माध्यम से लक्षित क्षेत्रफल को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements