राज्य कृषि समाचार (State News)

बुरहानपुर जिले में 34 पोटाश उर्वरक गोदामों का भौतिक सत्यापन

Share

पांच दुकानदारों का जिले में विक्रय प्रतिबंधित

8 फरवरी 2022, इंदौर । बुरहानपुर जिले में 34 पोटाश उर्वरक गोदामों का भौतिक सत्यापन – गत दिनों कृषि विभाग द्वारा बुरहानपुर जिले में  विभिन्न उर्वरक विक्रेताओं के गोदाम सील किये गये थे। इन गोदामों में पोटाश उर्वरक का भौतिक सत्यापन के लिए कलेक्टर  द्वारा  राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारियों का संयुक्त दल गठित किया गया था।इस संयुक्त दल को सत्यापन में पांच उर्वरक विक्रेताओं के यहाँ पुराने दर का म्यूरेट ऑफ़ पोटाश उर्वरक अलग-अलग कम्पनी का बड़ी मात्रा में मिला। इन पांचों दुकानदारों का जिले में विक्रय प्रतिबंधित कर यहाँ मिले  म्यूरेट ऑफ़ पोटाश को कृषि विभाग की निगरानी में  कम कीमत पर पहले बेचने की कार्रवाई की जा रही है।  

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों बुरहानपुर जिले में  कृषि विभाग द्वारा  विभिन्न उर्वरक विक्रेताओं के गोदाम सील किये गये थे। जिनमें जैन फ़र्टिलाइज़र, एग्रो सर्विस सेंटर हरदा, बंधु प्रेम एजेंसी, सहारा कृषि केंद्र, सिरपुर में नवकार फर्टीलाइजर, दादाजी कृषि सेवा केंद्र, खकनार में ऐश्वर्या कृषि केंद्र, सागर कृषि केंद्र खकनार, कृष्णा कृषि केंद्र, तुकईथड़ में दीपू बीज भंडार, मेसर्स शाकिर ब्रदर्स, नाचनखेड़ा में एग्रो सर्विस सेंटर, शाहपुर में माँ इच्छाई कृषि केंद्र, डोईफोड़िया में राकेश कृषि केंद्र शामिल है। इन सील किये गये गोदामों में पोटाश उर्वरक का भौतिक सत्यापन करने हेतु कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री प्रवीण सिंह के निर्देश पर राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारियों का संयुक्त दल गठित किया गया था। इस संयुक्त दल में बुरहानपुर विकासखण्ड हेतु सहायक संचालक कृषि श्री जे.एस.रावत, नायब तहसीलदार श्री गोविंद सिंह रावत, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री भूपेन्द्र सोलंकी तथा ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री दिलीप इंगले , वहीं खकनार विकासखण्ड हेतु अनुविभागीय कृषि अधिकारी श्री दीपक मण्डलोई, प्रभारी तहसीलदार श्री जितेन्द्र अलावा, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री जे.एस.चौहान तथा ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री बी.एस.वास्कले शामिल थे। इन अधिकारियों ने जिले के रिटेलर/थोक उर्वरक विक्रेताओं के सील गोदामों में भौतिक रूप से उपलब्ध पोटाश उर्वरक का पीओएस मशीन अनुसार मिलान कर बेग पर प्रिन्ट एमआरपी अनुसार मात्रा का सत्यापन किया गया।

श्री एम एस देवके, कृषि उपसंचालक ,बुरहानपुर ने कृषक जगत को बताया कि जिले में सील किये गये 34  उर्वरक विक्रेताओं के गोदामों पर कृषि एवं राजस्व विभाग की संयुक्त टीम द्वारा म्यूरेट ऑफ़ पोटाश उर्वरक का भौतिक सत्यापन की कार्यवाही की गई। जिसमें 5  उर्वरक विक्रेताओं अरिहंत फ़र्टिलाइज़र बुरहानपुर,गणेश कृषि केंद्र दर्यापुर, गुरुकृपा कृषि केंद्र दर्यापुर, चक्रधर स्वामी बॉयोटेक डोईफोड़िया और नवकार फ़र्टिलाइज़र ,सिरपुर  के यहाँ पुराने दर का म्यूरेट ऑफ़ पोटाश उर्वरक अलग-अलग कम्पनी का पाया गया। शेष के यहाँ स्थिति सामान्य पाई गई। इन पांचों दुकानदारों का जिले में विक्रय प्रतिबंधित कर इनके यहाँ मिले  म्यूरेट ऑफ़ पोटाश को ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों  की निगरानी में कम कीमत  पर पहले बेचने की कार्रवाई की जा रही है।

Burhanpur--News11

Burhanpur-News33

महत्वपूर्ण खबर: इन्दौर जिले में 15 फरवरी तक 11 हजार क्रेडिट कार्ड बनाने का लक्ष्य

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *