छत्तीसगढ़ में नरवा विकास से किसानों को मिली सिंचाई की सुविधा

Share

19 जनवरी 2023,  बालोद । छत्तीसगढ़ में नरवा विकास से किसानों को मिली सिंचाई की सुविधा – राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरूवा, गरूवा, घुरूवा बाड़ी के तहत् नरवा विकास के कार्य से अब नालों के जलस्तर में वृद्धि हुई है साथ ही किसानों को भी सिंचाई की सुविधा मिल रही है। जिन नालों में जल वर्षा ऋतु के पश्चात जल्द ही सुख जाते थे। उनका विस्तार से सर्वे कर डीपीआर तैयार किया गया तथा विभिन्न प्रकार के स्ट्रक्चर बनाये गये जिससे लगातार भूमिगत एवं सतही जल स्तर में वृद्धि हो रही है तथा किसानों को सिंचाई सुविधा का लाभ मिल रहा है। इससे किसानों को दोहरी फसल तथा आर्गेनिक खेती में मदद मिल रही है।

जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. रेणुका श्रीवास्तव ने बताया कि गुरूर विकासखण्ड के अंतर्गत आमानाला ग्राम आमापानी ग्राम पंचायत बोरिदकला से प्रांरभ होकर धमतरी जिला के ग्राम बोरिदखुर्द में प्रवेश करता है। इस नाला के अतंर्गत ग्राम आमापानी एवं बोरिदकला कुल 02 ग्राम आते है। इन ग्राम पंचायत की कुल जनसंख्या 1311 है। इस नाले की कुल लंबाई 5.30 किमी. है। इस नाले का जलग्रहण क्षेत्र 1150 हेक्टेयर है। उन्होंने बताया कि इस नाले के अंतर्गत कलस्टर 1 में कुल 02 नरवा को सम्मिलित किया गया है एवं डीपीआर मे पं्रस्तावित कुल कार्य 95 (वन क्षेत्र-63, राजस्व क्षेत्र-32) किये है जिसमे से कुल 32 कार्य स्वीकृत है तथा 24 कार्य पूर्ण, 2 कार्य प्रगति एवं 6 कार्य अप्रांरभ हैं, जिसमें मुख्य रूप से परकोलेशन टैंक, नाला तटबंधान, चेेकडेम, लुजबोल्डर कार्य आदि सरंचनाओं का निर्माण किया गया है, जिसमें सिचाई क्षमता में 2.30 हेक्टेयर की वृध्दि हुई है, इस नाले के विकास से 42 कृषक लाभान्वित हुए हैं साथ ही विगत 3 वर्षो में जल स्तर में 1 फीट की वृद्धि हुई है।

महत्वपूर्ण खबर: छत्तीसगढ़ में धान के बदले रागी की खेती के लिए किया जा रहा है प्रोत्साहित

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *