खरगोन में कम वर्षा के कारण सिंचाई होगी प्रभावित

Share

इस वर्ष 27 प्रतिशत कम वर्षा हुई, 90 सिंचाई तालाबों से पानी नहीं मिलेगा

18 नवंबर 2021, खरगोन । खरगोन में कम वर्षा के कारण सिंचाई होगी प्रभावित वर्ष 2020-21 में अल्पवर्षा की स्थिति के कारण जल संसाधन विभाग ने अपने 90 तालाबों पर उद्वहन और दोहन करने पर निषेधाज्ञा लागू की है। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी. की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जन उपयोगिता समिति की बैठक में जल संसाधन सहित पीएचई, नगरपालिका और राजस्व विभाग द्वारा ग्रीष्मकाल में पेयजल के लिए जल आरक्षित करने पर विस्तार से चर्चा की गई। जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री पीके ब्राह्मणे ने बताया कि वर्तमान में जिले में कुल 155 तालाब क्रियाशील है। इसमें एक मध्यम आकार का तालाब भी शामिल हैं। गत वर्ष जल संसाधन विभाग के तालाबों में कुल 296 एमसीएम जल क्षमता थी। इस वर्ष भीकनगांव के सतसोई तालाब बन जाने से कुल क्षमता 301.5 एमसीएम होने के बावजूद अभी 151 एमसीएम जल ही तालाबों में भरा है। बैठक के दौरान लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री जितेन्द्र मावी ने कहा कि जिले की औषत वर्षा की तुलना में इस वर्ष 26.53 प्रतिशत कम वर्षा हुई है। बैठक के दौरान बड़वाह एसडीओ श्री केके सोलंकी, मण्डलेश्वर के श्री रमेश चौहान, कसरावद के श्री एलएस सोलंकी उपस्थित रहे।

90 तालाबों पर निषेधाज्ञा लागू

बैठक के दौरान जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री ब्राह्मणे ने तालाबों में जल भराव की वस्तुस्थिति स्पष्ट की। उन्होंने कहा कि जिले की 68 तालाबों में निम्न जल स्तर 0 प्रतिशत जल भराव हुआ है। वहीं 22 तालाब ऐसे हैं जो 10 प्रतिशत तक जल भराव की स्थिति में है। जो डेड स्टोरेज और लाईव स्टोरेज की स्थिति में है। अत: इन तालाबों से किसी भी प्रकार से जल उद्वहन और दोहन निषेधाज्ञा लागू रहेगी। जबकि जिले में 14 तालाबों में 50 प्रतिशत तक जल भराव, 16 तालाबों में 75 प्रतिशत जल भराव, 2 तालाबों में 99 प्रतिशत जल और 100 प्रतिशत जल भराव के केवल 11 तालाब हैं। जल संसाधन विभाग द्वारा इस वर्ष रबी की सिंचाई के लिए केवल 35714 हेक्टेयर भूमि के लिए जल उपलब्ध करा पाएगा। गत वर्ष जल संसाधन विभाग द्वारा 55372 हेक्टेयर में सिंचाई के लिए जल उपलब्ध कराया था। बैठक में मौजूद एनवीडीए के कार्यपालन यंत्री श्री एमएस परस्ते ने सिंचाई को लेकर कहा कि एनवीडीए विभाग द्वारा कुल 112732 हेक्टेयर के लिए जल उपलब्ध कराएगा। इस तरह इस वर्ष जल संसाधन और एनवीडीए द्वारा 148446 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई के लिए जल उपलब्ध कराएगा। जिला जल उपयोगिता समिति के अध्यक्ष व कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी. ने सिंचाई और पेयजल के लिए आरक्षित जल के लिए अनुमोदन किया।

विद्युत कनेक्शन के लिए लेना होगा विभाग का अनापत्ति पत्र

बैठक के दौरान कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने एमपीईबी के कार्यपालन यंत्री से कहा कि कृषि के लिए अस्थायी या स्थायी विद्युत कनेक्शन लेने से पूर्व विभाग द्वारा जारी अनापत्ति पत्र मांगे। इसके उपरांत ही किसानों को विद्युत विभाग विद्युत कनेक्शन देंगे और अवैध कनेक्शन के विच्छेद करेंगे।

जल संसाधन विभाग के 0 प्रतिशत जल भराव के कुल 68 तालाबों में विकासखण्ड भगवानपुरा में जामनिया तालाब, जामुनपाटी तालाब, विकासखण्ड खरगोन में ऊन तालाब, डेहरी तालाब, बघाईमाता तालाब, झिरन्या तालाब, पान्यादड़ तालाब, नंदगांव तालाब, रजूर तालाब, छोटी ऊन तालाब, विकासखण्ड सेगाव में कमोदवाड़ा तालाब, उपड़ी तालाब, डालकी तालाब, बलवाड़ी तालाब, सिलोटिया तालाब, गवलान तालाब, विकासखण्ड गोगांवा में गाड़ाघाट तालाब, मोघन तालाब, रेटवा तालाब, विकासखण्ड महेश्वर में आवल्या तालाब, विकासखण्ड कसरावद में डाबरी तालाब, अमर बगवा तालाब, बेगंदी तालाब, अंबादड़ तालाब, बिलिदड़ तालाब, नायदड़ तालाब, बेसरकुण्ड तालाब, मुगल कचेरी तालाब, कथारिया तालाब, बिठेर तालाब, गुजारी तालाब, जलखां नं. 2 तालाब, जल ज्योती तालाब, गुजारी क्र.2 तालाब, बहादरपुरा तालाब, ढाबा तालाब, अपर जामला तालाब, डोमारा तालाब, टेमरनी तालाब, कुण्डीया तालाब, खेड़ी तालाब, हिरापुर तालाब, सादड़बन तालाब, सुर्वा तालाब, बरसलाय तालाब, विकासखण्ड बड़वाह में सुअर खोदरी तालाब, जामन्या अपर लाछोरा तालाब, रमठान तालाब, सेल्दा तालाब, डालची तालाब, विकासखण्ड भीकनगांव में सुंद्रेल तालाब, सतवाड़ी तालाब, सरलाय तालाब, सस्याखेड़ी तालाब, ककडग़ांव तालाब, बागखेड़ा तालाब, साततलाई तालाब, चारमोली तालाब, टेमला क्र. 1 तालाब, टेमला क्र. 2 तालाब, हनुमानबेड़ी तालाब, पिपल्या तालाब, जेतगढ़ तालाब, लाखापुरा तालाब, बलखड़ीया तालाब, सुल्तानपुरा तालाब, लाछोरा तालाब, विकासखण्ड झिरन्या में रतनपुर का तालाब शामिल है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.