16 हजार करोड़ के बीमा क्लेम वितरित : कृषि मंत्री

Share

कृषक कल्याण कोष की राशि 2 हजार करोड़ से बढ़ाकर 5 हजार करोड़ की गई

23 जुलाई 2022, जयपुर । 16 हजार करोड़ के बीमा क्लेम वितरित : कृषि मंत्री कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा समृृद्ध किसान खुशहाल राजस्थान की सोच के साथ कृषि के लिए अलग से बजट पेश किया गया जिसमें कृषक कल्याण कोष की राशि 2 हजार करोड़ से बढ़ाकर 5 हजार करोड़ की गई है। पिछले साढ़े तीन साल में 150 लाख पात्र फसल बीमा पॉलिसी धारक कृषकों को 16 हजार करोड़ के बीमा क्लेम वितरित किये गये। खरीफ 2021 से फसल बीमा पॉलिसियां वितरित करने वाला राजस्थान देश में प्रथम राज्य है। भारत सरकार ने भी सभी राज्यों को इसका अनुसरण करने के निर्देश दिये हैं।

श्री कटारिया बैंगलुरू में केन्द्रीय कृृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर की अध्यक्षता में आयोजित राज्यों के कृषि मंत्रियों की राष्ट्रीय कॉन्फ्रेन्स को सम्बोधित कर रहे थे।
राष्ट्रीय कॉन्फ्रेन्स में कृषि मंत्री ने बताया विभाग द्वारा ‘राज किसान साथी पोर्टल‘ बनाया गया है जो किसानों एवं कृषि व्यवसायियों के लिए एकल खिडक़ी के रूप में काम कर रहा है। इसमें कृषि से सम्बन्धित सभी विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की सूचनाए अनुदान सहायताएं लाईसेन्स एवं पंजीयन आदि की सुविधा उपलब्ध है। इस पोर्टल के माध्यम से अब तक लगभग 700 करोड़ रूपये डी.बी.टी. के माध्यम से किसानों को हस्तान्तरित किये गये हैं।

श्री लालचंद कटारिया ने बताया कि ‘‘राजस्थान जैविक खेती मिशन‘‘ के लिए कृषि बजट में 600 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है जिसके तहत 3 लाख 80 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में वृृद्धि की जायेगी। कृषि विपणन प्रसंस्करण व निर्यात को बढ़ावा देने के लिए राज्य में कार्यरत 120 कृषक उत्पादक संगठनों को सुदृृढ़ किया जायेगा। उन्होंने बताया कि राज्य की सभी कृषि उपज मण्डियों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है। 136 मण्डी समितियों में ऑयल टेस्टिंग मशीन, ग्रेन फिजिकल एनालाईजर मशीन एवं वेईंग स्केल मशीन आदि उपकरणों की स्थापना की जा चुकी है।

कृषि मंत्री ने बताया कि बाजरा, ज्वार और अन्य छोटे मिलेट्स के मूल्य संवर्धन को बढ़ावा देने के लिए ‘राजस्थान मिलेट संवर्धन मिशन‘ शुरू किया गया है। इसको प्रोत्साहन व नवीनतम तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराने की दृृष्टि से जोधपुर कृषि विश्वविद्यालय के अन्तर्गत 5 करोड़ रूपये की लागत से सेन्टर ऑफ एक्सीलेन्स फॉर मिलेट्स की स्थापना की जायेगी।

राष्ट्रीय कॉन्फ्रेन्स में देश के कृषि मंत्रियों सहित राज्य से कृृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री दिनेश कुमार, सहकारिता विभाग के रजिस्ट्रार श्री मुक्तानंद अग्रवाल एवं कृृषि आयुक्त श्री कानाराम उपस्थित रहे।

महत्वपूर्ण खबर: खरपतवार अनुसन्धान निदेशालय को मिले दो राष्ट्रीय पुरस्कार

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.