राज्य कृषि समाचार (State News)

किसानों को 5 घंटे के तीन ब्लॉक में बिजली आपूर्ति के दिए निर्देश

Share

ऊर्जा राज्य मंत्री ने ली समीक्षा बैठक

17 मई 2022, जयपुर । किसानों को 5 घंटे के तीन ब्लॉक में बिजली आपूर्ति के दिए निर्देश – ऊर्जा राज्य मंत्री श्री भंवर सिंह भाटी ने रविवार को विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में प्रदेश में बिजली आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा की। श्री भाटी ने बिजली की मांग, उपलब्धता एवं आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों को फसल की सिंचाई हेतु ब्लॉक आपूर्ति के समय में एक घंटे की बढोतरी की जाए। वर्तमान में किसानों को 4 घंटे के तीन ब्लॉक में बिजली आपूर्ति की जा रही है।

ऊर्जा राज्य मंत्री श्री भाटी ने निर्देश दिए कि किसानों को 4 के बजाए 5 घंटे के तीन ब्लॉक में बिजली आपूर्ति की जाए। किसानों को अब रात्रि में 2 बजे से प्रातः 7 बजे तक, प्रातः 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक एवं अपरान्ह 12 बजे से सांय 5 बजे तक तीन ब्लॉक में बिजली आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन तीनों ब्लॉक में किसानों को निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाए और इसमें किसी तरह की कोताही नही बरती जाए। किसानों को बिजली आपूर्ति ब्लॉक में किए गए बदलाव से दिन के दो ब्लॉक का समय अपरान्ह 12 बजे से 3 बजे तक एक साथ आने की वजह से बिजली आपूर्ति व्यवस्था को सामान्य बनाए रखने के लिए बढी हुई मांग को एनर्जी एक्सचेंज से बिजली खरीद कर पूरा करने के निर्देश दिए गए।

ऊर्जा राज्य मंत्री ने राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी को निर्देश दिए कि प्रदेश की उत्पादन इकाईयों से प्रतिदिन 5000 मेगावाट विद्युत उत्पादन हेतु हर संभव प्रयास किए जाए। वर्तमान में उत्पादन निगम की इकाइयों से लगभग 4000 मेगावाट विद्युत उत्पादन हो रहा है। उन्होंने तीनों डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशकों को निर्देश दिए कि कन्ज्ूयमर कॉल सेन्टर पर दर्ज होने वाली शिकायतों की नियमित मॉनिटरिंग की जाए। किसानों द्वारा बिजली की समस्या को कॉल सेन्टर पर दर्ज कराने हेतु टोल फ्री नम्बर का व्यापक प्रचार- प्रसार किया जाए। इसके साथ ही टोल फ्री नम्बर को जीएसएस, उपखण्ड कार्यालय एवं एफआरटी व्हीकल पर भी प्रदर्शित किया जाए, जिससे उपभोक्ताओं को बिजली शिकायतें दर्ज कराने में किसी प्रकार की समस्या नही हो।

श्री भाटी ने कहा कि किसानों को कृषि कनेक्शन जारी करने के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाए। इसके साथ ही गर्मी को देखते हुए पीएचइडी के लम्बित बिजली कनेक्शन भी तुरन्त प्राथमिकता से जारी किए जाएं। उन्होंने किसानों को आगामी समय में दिए जाने वाले नए कृषि कनेक्शन एवं दिन के समय दो ब्लॉक में बिजली आपूर्ति को देखते हुए सिस्टम पर बढने वाले लोड के मध्यनजर 400 केवी, 220 केवी एवं 132 केवी जीएसएस के निर्माण कार्य में तेजी लाने के लिए प्रसारण निगम को निर्देश दिए गए।

विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित समीक्षा बैठक में प्रमुख शासन सचिव उर्जा एवं अध्यक्ष डिस्कॉम्स श्री भास्कर ए. सावंत, उर्जा सलाहकार श्री ए. के. गुप्ता, विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी श्री आर.के.शर्मा, जयपुर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक श्री अजीत कुमार सक्सेना, अजमेर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक श्री एन. एस. निर्वाण, जोधपुर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक श्री प्रमोद टांक, निदेशक तकनीकी व पावर ट्रेडिंग एवं उर्जा विकास निगम के मुख्य अभियन्ता भी उपस्थित थे।

 

महत्वपूर्ण खबर: किसान संगठनों ने गेहूं निर्यात पर लगाई पाबंदी का किया कड़ा विरोध

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *