राज्य कृषि समाचार (State News)

शिवपुरी में बताया खरीफ फसलों का बीमा 31 जुलाई तक कराएं

Share

06 जुलाई 2024, शिवपुरी: शिवपुरी में बताया खरीफ फसलों का बीमा 31 जुलाई तक कराएं – प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ वर्ष 2024 में किसान जिले में एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कम्पनी इण्डिया लिमिटेड के माध्यम से अपनी खरीफ फसलों का बीमा 31 जुलाई तक करा सकते हैं। ऋणी कृषकों का संबधित बैंकों के माध्यम से फसल बीमा किया जायेगा। अऋणी कृषक संबंधित बैंक से या बीमा अभिकर्ता अथवा सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) के माध्यम से अपनी फसलों का बीमा करवा सकते हैं।

उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि खरीफ फसलों का बीमा कराने के लिये भू अधिकार पुस्तिका या बी-1 आधार कार्ड, बैंक पासबुक की प्रमाणित प्रति तथा फसल बुवाई प्रमाण पत्र के साथ विधिवत भरा हुआ प्रस्ताव पत्र के साथ अपने  मोबाइल नम्बर के साथ प्रस्तुत करना होगा। ऋणी कृषक जो फसल बीमा योजना से बाहर होना चाहते हैं। उन्हें भी बीमांकन की अंतिम तिथि से 07 दिवस पूर्व 24 जुलाई तक अपने संबंधित बैंक में अवश्य सूचित करना होगा। फसल बीमा कराने पर प्राकृतिक आग (आकाशीय बिजली गिरना), बादल फटना, तूफान, ओलावृष्टि, चक्रवात, बाढ, जलभराव, भूस्खलन सूखा, कीट-व्याधियां इत्यादि से फसल नुकसान होने पर किसान भाई फसल बीमा का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। फसल बीमा के संबंध में किसान भाई एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इण्डिया लिमिटेड के टोल फ्री नम्बर 18005707115 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसल का बीमा कराने के लिए शिवपुरी जिले हेतु पटवारी हल्का स्तर पर धान सिंचित के लिए प्रीमियम राशि 800 रू प्रति हैक्टयर, धान असिंचित के लिए 713 रू, मक्का के लिए 554 रू, तुअर के लिए 582, बाजरा के लिए 406 रू, सोयाबीन  के लिए 689.50 रू, मूंगफली के लिए 800 रू तथा जिला स्तर पर उड़द के लिए 558 रू एवं तहसील स्तर के पर तिल के लिए 426.8 रू, मूंग के लिए 558 रू. प्रति हेक्टेयर प्रीमियम राशि निर्धारित है। अधिसूचित फसलों के बीमा की प्रीमियम राशि अपने बैंक अथवा सी.एस.सी. सेंटर में जमा कर रसीद प्राप्त कर सकते हैं।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements