कृषकों का प्रशिक्षण सह-भ्रमण कार्यक्रम आयोजित

Share

13 सितम्बर 2022, इंदौर: कृषकों का प्रशिक्षण सह-भ्रमण कार्यक्रम आयोजित – आत्मा परियोजना इंदौर द्वारा सोयाबीन की उन्नत अनुशंसित प्रजातियों को अपनाने एवं वर्तमान परिस्थितियों में समग्र अनुशंसाओं पर चर्चा के लिए गत दिनों भाकृअप -सोयाबीन अनुसन्धान संस्थान , इंदौर में जिले के कृषकों के लिए प्रशिक्षा-सह भ्रमण कार्यक्रम आयोजित किया गया , जिसमें किसानों को संस्थान की सोयाबीन की नवीन प्रजातियों के प्रदर्शन दिखाए गए। संस्थान के प्रधान वैज्ञानिकों ने कई जानकारियां दी।

परियोजना संचालक,आत्मा, श्रीमती शार्ली थॉमस ने प्रशिक्षण के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए सोयाबीन की नई किस्में , जिसमें प्रतिरोधक क्षमता अधिक है, को अपनाने का आह्वान किया। डॉ बीयू दुपारे ने संस्थान के कार्यों, उद्देश्य और समग्र अनुशंसाओं पर विस्तृत चर्चा की । डॉ संजय गुप्ता ने सोयाबीन के जलवायु परिवर्तन के प्रति सहनशील किस्मों और उनकी अनुशंसाओं पर विस्तार से बताया। डॉ विनीत कुमार ने सोयाबीन के अलग-अलग किस्मों के विभिन्न पौधे दिखाकर उनकी विशेषताएं बताई। जिसमें एनआरसी -138,142,152,आरवीएसएम -2011 -35 आदि के पौधों की वृद्धि,फलियों की संख्या,दानों का भराव,पकने की अवस्था और दाने की गुणवत्ता की पुरानी किस्मों से तुलना कर नई किस्में बोने का सुझाव दिया।

इस मौके पर विशेष रूप से उपस्थित श्री भारत सिंह , जिला पंचायत उपाध्यक्ष , इंदौर ने भी किसानों को सम्बोधित किया और किसानों को समझाइश दी कि कैसे छोटे -छोटे सुधार करके किसान अपनी आय बढ़ा सकते हैं। आभार प्रदर्शन उप परियोजना संचालक सुश्री रेणु पाराशर ने किया।

महत्वपूर्ण खबर: पैक्स को पांच साल में 65 हजार से बढ़ाकर 3 लाख किया जाएगा

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.