पैक्स को पांच साल में 65 हजार से बढ़ाकर 3 लाख किया जाएगा

Share

पैक्स के कम्प्यूटराइज़ेशन के लिए 2516 करोड़ रुपए

12 सितम्बर 2022, नई दिल्लीपैक्स को पांच साल में 65 हजार से बढाकर 3 लाख किया जाएगा केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने गत दिवस गुजरात के अमरेली में प्रमुख सहकारी संस्थाओं की एजीएम को संबोधित किया। इस अवसर पर केन्द्रीय पशुपालन मंत्री श्री परषोत्तम रूपाला सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

श्री शाह ने कहा कि 1995 में किसानों को दिए जाने वाले ऋण पर 18% ब्याजदर को 3 लाख तक के ऋण पर शून्य करने का बड़ा काम करके मोदी जी ने ये बताया कि जब किसान हितैषी सरकार आती है तब कैसा परिवर्तन आता है। उन्होंने कहा कि आज 65 हजार पैक्स (PACS) हैंऔर अगले पांच साल में बढाकर 3 लाख किया जाएगा और पैक्स बनाने का कार्यक्रम इसी वर्ष दिसम्बर माह से प्रारंभ होगा। श्री शाह ने कहा कि लगभग 2516 करोड़ रूपए पैक्स के कम्प्यूटराइज़ेशन के लिए मोदी सरकार ने दिए हैं। इस वर्ष के बजट में सहकारी मंडियों पर लगने वाले वैकल्पिक कर को 18.5% से घटाकर 15% और सरचार्ज को 12% से घटाकर 7% किया गया। इसके अलावा भारत सरकार ने निर्णय लिया है कि एक कोऑपरेटिव डेटाबेस बनेगा, जिससे मंडलियों की संख्या और सेहत दोनों की जांच ऑनलाईन भारत सरकार कर सकेगी। उन्होंने कहा कि पैक्स को बहुद्देश्यीय बनाने की दिशा में भी हम काम कर रहे हैं जिससे इनमें मार्केटिंग, भंडारण, गोबर गैस, बिजली वितरण, गैस आदि गतिविधियां पैक्स को सौंपने की व्यवस्था होगी।

श्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्राकृतिक खेती पर भी ख़ासा ज़ोर दिया है। ओर्गेनिक प्रोडक्ट हमारे देश और दुनियाभर के लोगों का स्वास्थ्य सुधारेंगे और किसानों को भाव भी ज्यादा मिलेगा। लेकिन इन उत्पादों के सर्टिफिकेशन के लिए हमने अमूल और अन्य पांच सहकारी संस्थाओं को मिलाकर एक मल्टीस्टेट को-ऑपरेटिव सोसायटी बनाने का निर्णय किया है जो देश के हर राज्य में लेबोरेटरी बनायेगी और वहां किसानों के खेतों की मिट्टी और का परीक्षण कर अमूल ऑर्गेनिक का सर्टिफ़िकेशन लगकर मुनाफा सीधे किसान के खाते में जमा हो जायेगा।

महत्वपूर्ण खबर:गेहूँ की नयी किस्म वी.एल. 2041, बिस्कुट बनाने के लिए अत्यधिक उपयुक्त

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.