राज्य कृषि समाचार (State News)

प्राकृतिक संसाधनों के अति दोहन से पर्यावरण प्रदूषण बढ़ा – डॉ.जे.एस.मिश्र

Share

06 जून 2023, जबलपुर: प्राकृतिक संसाधनों के अति दोहन से पर्यावरण प्रदूषण बढ़ा – डॉ.जे.एस.मिश्र – पर्यावरण के संरक्षण हेतु  किसानों  को जागरूक करने के उद्देश्य से खरपतवार अनुसन्धान निदेशालय, जबलपुर द्वारा  पर्यावरण दिवस पर ग्राम- गडरपिपरिया, सहजपुर, जबलपुर कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें  डॉ. दीपक पवार, श्री एस. के. पारे, श्री एम. के. मीणा एवं श्री जे. एन. सेन  सहित गडरपिपरिया, कटंगी, लामी, बड़खेरा, किसरौद, परछिया, सहजपुर सहित कई गांवों के लगभग 250 पुरूष एवं महिला  किसानों ने भाग लिया।

खरपतवार अनुसंधान  निदेशालय  के निदेशक डॉ.जे.एस.मिश्र ने कहा कि मानव द्वारा प्राकृतिक संसाधनों का अति दोहन करने के  परिणामस्वरूप पर्यावरण प्रदूषण का स्तर काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। डॉ. मिश्र ने पर्यावरण की सुरक्षा में किसानों  के योगदान पर चर्चा की। इस वर्ष की थीम ‘‘प्लास्टिक प्रदूषण के समाधान‘‘ से  किसानों को अवगत कराया एवं  किसानों  को सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग कम से कम करने पर  ज़ोर दिया। कार्यक्रम संयोजक एवं प्रधान वैज्ञानिक डॉ. पी. के. सिंह ने पर्यावरण के मुख्य  घटकों  जैसे जल, वायु, अग्नि, आकाश एवं पृथ्वी पर चर्चा  कर इनके प्रदूषण के कारणों पर विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला और जल के संरक्षण एवंबड़ी संख्या में  वृक्षारोपण करने का किसानों से आह्वान किया।  

वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. वी.के. चौधरी ने कहा कि कई किसानों द्वारा नरवाई जलाने से पर्यावरण प्रदूषित होता है। इसके अलावा उन कृषि कार्यो का उल्लेख किया जिनसे पर्यावरण प्रदूषित होता है। आपने किसानों को कृषि के सही तरीके अपनाने पर ज़ोर  दिया। इस कार्यक्रम में क्षेत्र के प्रगतिशील किसान श्री श्याम पटेल ने भी अपने विचार रखे एवं  किसानों को पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाने  की बात कही।  वैज्ञानिक इंजी चेतन सी आर. ने  किसानों  को शाकनाशी  छिड़काव की सही विधि से परिचित कराया एवं नरवाई न जलाते हुए उसके उपयोग करने की सलाह दी । इस मौके पर डॉ. दीपक पवार, श्री एस. के. पारे, श्री एम. के. मीणा एवं श्री जे. एन. सेन भी मौजूद रहे।कार्यक्रम का संचालन  वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. योगिता घरडे ने किया।  

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements