ओलावृष्टि से हुए फसल नुकसान का मिलेगा मुआवजा : मुख्यमंत्री

Share

13 जनवरी 2022, भोपाल । ओलावृष्टि से हुए फसल नुकसान का मिलेगा मुआवजा : मुख्यमंत्री – ओलावृष्टि से प्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, सागर और उज्जैन संभाग के कुछ जिलों में फसलों को हुए नुकसान का सर्वे कराया जाएगा। सर्वे के आधार पर किसानों को राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रविधान के अनुसार नुकसान की भरपाई की जाएगी। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टरों को राजस्व, कृषि और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों का संयुक्त दल बनाकर सर्वे कराने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि विदिशा, राजगढ़, गुना सहित अन्य जिलों में ओलावृष्टि की वजह से गेहूं और चना की फसल प्रभावित हुई है। विदिशा के लटेरी क्षेत्र में फसल को अधिक नुकसान हुआ है। वहीं, भोपाल जिले में तेज हवा के साथ वर्षा होने से कुछ जगहों पर खेत में फसल बिछ गई।

कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस वर्ष बोवनी का काम मध्य दिसंबर तक चलता रहा है। ऐसी फसलों को नुकसान नहीं होगा। नुकसान का आकलन कराया जा रहा है। जिन खेतों में फसलें प्रभावित हुई हैं, उनका पंचनामा तैयार किया जाएगा और राजस्व विभाग के तय प्रविधानों के अनुसार मुआवजा दिया जाएगा।

शिकायत से पहले किसान के खेत पर पहुँचे सर्वे-दल : कृषि मंत्री

कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने ओला-वृष्टि के कारण किसानों की फसलों को हुए नुकसान का सर्वे करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने राजगढ़ और गुना जिलों के कलेक्टर्स से चर्चा कर निर्देश दिये किसानों की शिकायत से पहले उनके खेतों में जाकर सर्वेक्षण दल द्वारा सर्वे कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। सर्वे की वीडियोग्राफी अनिवार्य रूप से की जाये। पंचनामे पर किसान के हस्ताक्षर भी करवायें।

अधिसूचना के लिये कलेक्टर की सराहना

श्री पटेल ने राजगढ़ कलेक्टर द्वारा किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से लाभान्वित करने के लिये अधिसूचना जारी करने पर सराहना की। राजगढ़ कलेक्टर कार्यालय द्वारा ओला-वृष्टि के कारण फसलों को हुई नुकसानी के लिये दल बनाकर सर्वे करने और दावा राशि प्रदान करने के लिये एकजाई रिपोर्ट प्रस्तुत करने के संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई।

 

महत्वपूर्ण खबर: किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए ई-किसान चौपाल का आयोजन होगा

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.