मुख्यमंत्री ने पंजाब में नहरों की मज़बूती के लिए केंद्र सरकार से विशेष पैकेज माँगा

Share

29 जुलाई 2022, चण्डीगढ़: मुख्यमंत्री ने पंजाब में नहरों की मज़बूती के लिए केंद्र सरकार से विशेष पैकेज माँगा – पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से राज्य में नहरी प्रबंध के नवीनीकरण के लिए विशेष फंड अलॉट करने के लिए दख़ल देने की माँग की।  
केंद्रीय मंत्री शेखावत के साथ आज यहाँ उनके कार्यालय में मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने राज्य में मौजूदा नहरी प्रणाली को मज़बूत और मरम्मत करने के लिए विशेष पैकेज की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। उन्होंने कहा कि आज़ादी से पहले बनी अपर बारी दोआब नहर (यू.बी.डी.सी.) का अब बहुत बुरा हाल है, जिस कारण किसानों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। भगवंत मान ने केंद्रीय मंत्री को अवगत करवाया कि आज़ादी के बाद बनी नहरों को भी मज़बूत करने और उनका नवीनीकरण करने की ज़रूरत है, जिसके लिए केंद्र सरकार को राज्य को विशेष पैकेज देना चाहिए।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह समय की ज़रूरत है क्योंकि राज्य के अनाज उत्पादकों, जिन्होंने देश को अनाज उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने में अहम भूमिका निभाई है, को राज्य में ख़स्ता हाल नहरी व्यवस्था के कारण काफ़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने इस सम्बन्धी राज्य सरकार द्वारा पेश किए गए प्रस्तावों को मंज़ूरी देने के लिए केंद्रीय मंत्री के हस्तक्षेप की माँग की। भगवंत मान ने कहा कि इससे नहरों के पानी की क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलेगी और राज्य के किसानों को फ़ायदा होगा।  
मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री को यह भी बताया कि राज्य सरकार ने सतलुज नदी की सहायक नदी, बुड्ढ़े नाले की सफ़ाई का प्रोजैक्ट शुरू किया है, जो लुधियाना जिले से गुजऱने वाली नदी के लगभग बराबर चलता है और आखिऱकार नदी में मिल जाता है। उन्होंने बताया कि नाले की कुल लंबाई 47.55 किलोमीटर है, जिसमें से 14 किलोमीटर लुधियाना शहर से गुजऱता है और शहर को दो हिस्सों में बाँटता है। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार ने इस नाले की सफ़ाई के लिए 850 करोड़ रुपए का प्रोजैक्ट शुरू किया है, जिसमें नए एस.टी.पीज़ और सी.ई.टी.पीज़ के निर्माण के अलावा मौजूदा नाले को अपग्रेड करना शामिल है।  
इसी तरह मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार बुड्ढ़े नाले में भी 200 क्यूसिक ताज़ा पानी छोड़ रही है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री को बताया कि इस प्रोजैक्ट का 54 प्रतिशत काम मुकम्मल हो चुका है और यह मार्च 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा। भगवंत मान ने केंद्र सरकार से अपील की कि वह नई तकनीकें लाने के लिए इस प्रोजैक्ट में राज्य सरकार की मदद करे।  
इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने भगवंत मान को पूर्ण सहयोग और तालमेल का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पंजाब सरकार की माँगों पर हमदर्दी से विचार करेगी।  
मुख्यमंत्री के साथ उनके अतिरिक्त मुख्य सचिव ए वेणु प्रसाद, विशेष प्रमुख सचिव रवि भगत और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

महत्वपूर्ण खबर: सिंचाई उपकरण हेतु 27 जुलाई से 4 अगस्त तक आवेदन पत्र आमंत्रित

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.