भोपाल में छाया रसायन रहित खाद्य उत्पादों का मेला

Share

तीन दिवसीय मेले में चार हजार से अधिक नागरिकों ने की भागीदारी

भोपाल के गुलमोहर कालोनी स्थित अरेरा फार्म पर गत दिनों हुए तीन दिवसीय गौ आधारित रसायन रहित खाद्य उत्पादों के मेले में राजधानी के लगभग चार हजार नागरिकों ने भागीदारी की। उन्होंने ताजी जैविक, रसायन रहित सब्जियों और फलों की खरीददारी की, साथ ही जैविक खाद्यान्न से तैयार किए भोजन का भी आनन्द लिया, मेले का आयोजन एन.सी.एच.एस.ई. एवं किसान समूह बरखेड़ा बरामद द्वारा कृषक जगत के सहयोग से किया गया।
मेले में खण्डवा, हरदा, होशंगाबाद, विदिशा, रायसेन, सीहोर, भोपाल और देवास से आए जैविक खेती करने वाले किसानों और उत्पादकों ने भाग लिया। मेले में हरी सब्जियों के साथ-साथ घरों में किचन गार्डन और रूफटाप गार्डन में सब्जी.भाजी उगाने वाले लोगों के लिए जैविक खाद, जैविक कीटनाशक, पोषक तत्व आदि बिक्री के लिए उपलब्ध थे। हर्बल और जैविक औषधियों के पाउडर, विभिन्न प्रकार की दालें, गेंहूँ, चावल, मक्का, ज्वार, जौ आदि खाद्यान्न के आटा, दलिया, मसाले, तेल, गौ मूत्र के अर्क से बने उत्पाद आदि खरीददारों में लोकप्रिय रहा।
तीन दिवसीय जैविक मेले के समापन सत्र में मेले में भाग लेने वाले किसानों और उत्पादकों को सम्बोधिंत करते हुए इस मेले के संरक्षक डॉ. जी. एस. कौशल, पूर्व संचालक, कृषि म.प्र. ने कहा कि हमें रसायनिक आधारित खेती को छोड़कर जैविक खेती अपनाना होगा और फैमिली डॉक्टर के आधार पर फैमिली किसान को अपनाना होगा, जिससे हमें रसायन रहित खाद्य पदार्थ आसानी से उपलब्ध हो सकें। कृषक जगत के प्रधान संपादक श्री विजय बोंद्रिया ने इस प्रयास को सराहा और कहा कि इस प्रयास को और आगे तक ले जाने की जरूरत है। इस सत्र में प्रतिभागियों ने भी अपना-अपना वक्तव्य रखा और इस तरह के प्रयास में आगे भी भाग लेने की प्रतिबधता जतायी। अंत में प्रतिभागियों को उनके योगदान के लिये प्रमाण-पत्र वितरित किये गये।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.