बिजली कटौती से केला फसल हो रही खराब

Share

20 मई 2022, इंदौर । बिजली कटौती से केला फसल हो रही खराब प्रदेश में इन दिनों बिजली कटौती का मुद्दा गर्माया हुआ है। इससे बड़वानी जिला भी अछूता नहीं है। इस जिले की ठीकरी तहसील के ग्राम चिचली के किसान भी बिजली की कटौती से परेशान हैं। गांवों में खेती के लिए निर्धारित 10 घंटे बिजली की आपूर्ति को घटाकर 8 घंटे कर दिया गया है। इसके बावजूद भी बिजली की अघोषित कटौती के कारण सिंचाई के अभाव में भीषण गर्मी में मुख्यत: केला, गन्ना, मूंग और सब्जियों की फसल खराब हो रही है।

ग्राम चिचली के किसान श्री अभिषेक पाल्दीवाल ने कृषक जगत को बताया कि यहाँ बिजली की बहुत समस्या है। नर्मदा का जल स्तर भी कम कर दिया गया है, इस कारण मोटरें भी पानी नहीं उठा पा रही है। गांवों में खेतों की सिंचाई के लिए पहले 10 घंटे बिजली की आपूर्ति निर्धारित थी, जिसे अब घटाकर 8 घंटे कर दिया गया है, फिर भी बीच-बीच में भी अघोषित बिजली कटौती की जा रही है, जिससे क्षेत्र में गन्ना, केला, गर्मी के मूंग और सब्जी की फसलें सिंचाई नहीं कर पाने के कारण वे सूखकर खराब हो रही है। जबकि केले और गन्ने की फसल को नियमित सिंचाई की जरूरत रहती है।

बिजली कटौती से परेशान क्षेत्र के अन्य किसान श्री शिव कुमावत, श्री तिलक धनगर, श्री यशवंत कुमावत और श्री लक्ष्मीनारायण कुमावत का कहना है कि अभी बड़वानी जिले का तापमान 45 डिग्री से अधिक चल रहा है। बिजली कटौती की समस्या के संबंध में किसान दवाना के बिजली सुपरवाइजर से भी मिले थे,सुपरवाइजर ने कहा कि कटौती करने का आदेश ऊपर से आया है। हम कुछ नहीं कर सकते हैं। इसे लेकर कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। किसान परेशान हो रहे हैं।

 

महत्वपूर्ण खबर: किसान संगठनों के हस्तक्षेप के बाद किसानों को हुआ 40 लाख का भुगतान

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.