राज्य कृषि समाचार (State News)

रात में 3-4 घंटे दे रहे बिजली, उद्यानिकी फसलें खराब होने का अंदेशा

Share

13 मार्च 2023, इंदौर: रात में 3-4 घंटे दे रहे बिजली, उद्यानिकी फसलें खराब होने का अंदेशा – इंदौर जिले सहित आसपास के ग्रामीण अंचल में बिजली कम्पनी द्वारा अघोषित रूप से विद्युत् कटौती की जा रही है। किसानों को रात में मात्र 3 -4 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है, इससे किसानों को सिंचाई के अभाव में अपनी उद्यानिकी फसलें खराब होने का अंदेशा है।

संयुक्त किसान मोर्चा के श्री बबलू जाधव ने कृषक जगत को बताया कि जब इस तरह की कटौती के बारे में बिजली कम्पनी के अधिकारियों से किसानों द्वारा पूछा जाता है तो उन्हें गोलमाल जवाब देते हुए कहा जाता है कि शेड्यूल बना कर भोपाल भेजा गया है ।भोपाल से मंजूरी आने के बाद ही बिजली कटौती का नया प्लान बनेगा। तब तक ऐसे ही चलेगा। जबकि इन दिनों जिन किसानों के खेतों में प्याज़ , लहसुन और सब्जियों की फसल है ,उनको सिंचाई के लिए बिजली की अत्यंत आवश्यकता है । 10 घंटे में से मात्र 3 से 4 घंटे बिजली दी जा रही है, वह भी देर रात को। इन दिनों गांवों में भू जल स्तर भी नीचे चले गया है , सिंचाई के लिए तय किए गए तीन घंटो में फसल की सिंचाई की पूर्ति ही नहीं हो पा रही है। इससे फसल खराब होने का अंदेशा है। इस कारण किसानों में भारी आक्रोश है।संयुक्त किसान मोर्चा ने मध्य प्रदेश पश्चिमी क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक से ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि सिंचाई के लिए 10 घंटे अनवरत बिजली देने की मांग की है ,अन्यथा किसानों को आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि इन दिनों गेहूं फसल की कटाई चल रही है। इसलिए बिजली कम्पनी को लगता है कि अब किसानों को बिजली की ज़रूरत नहीं है, इसीलिए बिना शेड्यूल के रात को केवल 3 से 4 घंटे बिजली दी जा रही है ,जबकि इंदौर जिले में गर्मी में प्याज़, लहसुन और सब्जियां बोने वाले किसानों का रकबा बहुत बड़ा है, जिन्हें अपनी उद्यानिकी फसल में सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही है। इसका फसल की गुणवत्ता और उत्पादन पर असर पड़ेगा। किसान की आय दुगुनी होने के बजाय कम हो जाएगी।

महत्वपूर्ण खबर: गेहूँ मंडी रेट (11 मार्च 2023 के अनुसार)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *