राज्य कृषि समाचार (State News)

कृषि क्षेत्र की योजनाओं का आवंटन

Share

08 जुलाई 2024, भोपाल: कृषि क्षेत्र की योजनाओं का आवंटन –

किसान कल्याण तथा कृषि विकास

  • अटल कृषि ज्योति योजना हेतु 5510 करोड़।
  • मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना हेतु 4900 करोड़।
  • म.प्र.वि.म. द्वारा 5 एच.पी. के कृषि पम्पों/ थ्रेशरों तथा एक बत्ती कनेक्शन को नि:शुल्क विद्युत प्रदाय हेतु प्रतिपूर्ति हेतु 2475 करोड़।
  • पीएम फसल बीमा योजना हेतु 2001 करोड़।
  • मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना हेतु 1000 करोड़ रुपए।
  • फूड एंड न्यूट्रीशन सिक्योरिटी हेतु 396 करोड़।
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना हेतु 266 करोड़।
  • सब मिशन आन फार्म वाटर हेतु 235 करोड़।
  • ट्रैक्टर एवं कृषि उपकरणों पर अनुदान (एसएमएएम) हेतु 208 करोड़ रुपए।

उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण

  • पौध शाला उद्यान हेतु 151 करोड़ रुपए।
  • पीएम सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन हेतु 124 करोड़
  • संचालनालय एवं अधीनस्थ कार्यालय हेतु 115 करोड़।
  • खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण
  • समर्थन मूल्य पर किसानों से फसल उपार्जन पर बोनस का भुगतान हेतु 1000 करोड़ रुपए।
  • सार्वजनिक वितरण प्रणाली परिवहन कमीशन व्यय के लिए 550 करोड़ रुपए।
  • रसोई गैस सहायता योजना (उज्ज्वला) हेतु 320 करोड़ रुपए
  • रसोई गैस सहायता योजना (गैर उज्ज्वला) हेतु 200 करोड़ रुपए।

पशुपालन एवं डेयरी

  • गहन पशु विकास परियोजना हेतु 895 करोड़।
  • गौ एवं पशुओं का संवर्धन हेतु 252 करोड़।
  • सीएम पशुपालन विकास योजना हेतु 196 करोड़।
  • मुख्यमंत्री सहकारी दुग्ध उत्पादक प्रोत्साहन योजना हेतु 150 करोड़ रुपए।
  • गौ अभ्यारण्य अनुसंधान एवं उत्पादन केन्द्र हेतु 100 करोड़ रुपए।

मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास

  • प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना हेतु 102 करोड़।

सहकारी बैंकों को अंशपूंजी हेतु 1000 करोड़।

  • सहकारी बैंकों के माध्यम से कृषकों को अल्पकालीन ऋण पर ब्याज अनुदान हेतु 600 करोड़ रुपए।
  • प्राथमिक साख सहकारी समितियों को प्रबंधकीय अनुदान हेतु रु. 149 करोड़।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements