राज्य कृषि समाचार (State News)

देश के कृषि विकास में कृषि विज्ञान केन्द्रों की महत्वपूर्ण भूमिका: श्री नेताम, कृषि मंत्री छत्तीसगढ़

Share

29 जून 2024, रायपुर: देश के कृषि विकास में कृषि विज्ञान केन्द्रों की महत्वपूर्ण भूमिका: श्री नेताम, कृषि मंत्री छत्तीसगढ़ – छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री श्री रामविचार नेताम ने कहा है कि देश में कृषि  विकास में कृषि वैज्ञानिकों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। हमारे देश के कृषि वैज्ञानिकों, अनुसंधानकर्ताओं द्वारा नित नई तकनीकों की खोज और उत्पादन में वृद्धि के प्रयास का प्रतिफल है कि आज हमारे पास अन्न का पर्याप्त भंडार है और दूसरे देशों को निर्यात भी करते हैं। उन्होंने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र कृषि विश्वविद्यालयों द्वारा विकसित नवीन अनुसंधानों और तकनीकों को किसानों तक पहुंचाने का कार्य करते हैं और इस तरह कृषि के विकास तथा किसानों की आय बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। मंत्री श्री नेताम आज कृषि महाविद्यालय, रायपुर में आयोजित तीन दिवसीय छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश के कृषि विज्ञान केन्द्रों की 31वीं क्षेत्रीय कार्यशाला’ के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। कार्यशाला का आयोजन इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के कृषि तकनीकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान जोन-9, जबलपुर के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। श्री नेताम ने इस मौके पर विभिन्न प्रकाशनों का विमोचन किया। इस तीन दिवसीय कार्यशाला में छत्तीसगढ़ एवं मध्यप्रदेश के 81 कृषि विज्ञान केन्द्रों के प्रमुख, विषय वस्तु विशेषज्ञ तथा कृषि वैज्ञानिक शामिल हुए हैं।

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के कुलपति डॉ. (कर्नल) गिरीश चंदेल ने कहा कि कृषि के विकास और किसानों को समृद्ध बनाने में कृषि विज्ञान केन्द्रों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। मूल रूप से कृषि विश्वविद्यालय का काम शिक्षा विस्तार और शोध का है। लेकिन वास्तव में कृषि विश्वविद्यालयों के शोध को किसानों तक पहुंचाने का काम कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा किया जा रहा है।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् नई दिल्ली के सहायक महानिदेशक (कृषि विस्तार) डॉ. रंजय के. सिंह ने कहा कि देश भर में स्थापित 750 से अधिक कृषि विज्ञान केन्द्र कृषि के विकास और किसानों की आय बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जबलपुर के निदेशक डॉ. एस.आर.के. सिंह , इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के निदेशक विस्तार सेवाएं डॉ. अजय वर्मा ने भो कार्यशाला को संबोधित किया । कार्यशाला में भाकृअप के एवं विभिन्न संस्थानों के निदेशक, इंगांकृवि, रायपुर, जनेकृविवि, जबलपुर, राविसिंधिया कृषि विश्वविद्यालय, ग्वालियर के निदेशक विस्तार सेवाएं शामिल हुए।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements