1 लाख 69 हजार किसानों ने कराया पंजीयन

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

संभागीय रबी उपार्जन समीक्षा बैठक

इंदौर। गत दिनों इंदौर में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के प्रमुख सचिव श्री शिवशेखर शुक्ला की अध्यक्षता में संभाग स्तरीय रबी उपार्जन समीक्षा बैठक आयोजित की गई, जिसमें 25 मार्च से 22 मई 2020 की अवधि में रबी उपार्जन से संबंधित वसूली, भंडारण तथा वितरण व्यवस्था को लेकर कई निर्देश दिए।
बैठक में उपार्जन केंद्रों पर सभी भौतिक सुविधाएं जैसे निर्बाध विद्युत, हाई स्पीड इंटरनेट, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, केलेब्रेटेड इलेक्ट्रॉनिक तौल कांटा, कम्प्युटर, प्रिंटर, स्केनर, सूचना पटल, उपार्जन बैनर, भुगतान एवं टोल फ्री नंबर का प्रदर्शन आदि उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए।
प्रमुख सचिव श्री शुक्ला ने सभी कलेक्टर्स को उपार्जन समितियों की सीसी लिमिट की नियमित रूप से समीक्षा करने, उपार्जित स्कंध की गुणवत्ता तथा उपार्जन कार्य के पर्यवेक्षण हेतु उडऩ दस्ता गठित कर आकस्मिक जाँच करने के भी निर्देश दिए।
रबी मौसम 2020-21 में मोबाइल एप के द्वारा गुणवत्ता नियंत्रण किया जायेगा। यह मोबाइल एप दो स्तरों, उपार्जन केन्द्र एवं गोदाम स्तर पर कार्यरत रहेगा। जेआईटी अर्थात् जस्ट इन टाईम पेमेंट प्रोटोकॉल से किसानों के खातों को एनपीसीआई (भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम) द्वारा सत्यापन तथा स्वीकृति पत्रक के आधार पर भुगतान किया जायेगा। खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के संचालक श्री अविनाश लवानिया ने मार्च माह के साथ-साथ अप्रैल-मई के खाद्यान्न एवं नमक का वितरण होने से प्रदाय केंद्रों पर सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
वर्ष 2020-21 में गेहूं का रकबा 1293532 हेक्टेयर, चने का रकबा 199551 हेक्टेयर, मसूर का रकबा 526 हेक्टेयर तथा सरसों का रकबा 418 हेक्टेयर है। जहां गेहूं और सरसों के रकबे में वृद्धि हुई है वहीं चना एवं मसूर के रकबे में कमी पाई गई है। 1 लाख 69 हजार 853 किसानों ने गेहूँ के लिये पंजीयन कराया है तथा इसके अनुसार 3 लाख 92 हजार 670 हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं का रकबा है। राज्य स्तर पर गिरदावरी अनुसार उत्पादन के मान से 2020-21 के लिये 514837 मैट्रिक टन गेहूं उपार्जन अनुमानित है। इस वर्ष 362 उपार्जन केन्द्र प्रस्तावित है, जबकि गत वर्ष इनकी संख्या 357 थी। इस वर्ष गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रूपये प्रति क्विंटल, चने का समर्थन मूल्य 4875 रूपये प्रति क्विंटल, मसूर का समर्थन मूल्य 4800 रूपये प्रति क्विंटल एवं सरसों का समर्थन मूल्य 4425 रूपये प्रति क्विंटल तय किया गया है।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − six =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।