काले गेहूं की श्रीविधि से बोनी कर लाखों कमायेंगे लाखन सिंह

इन्दौर। इन्दौर जिले के देपालपुर विकासखंड ग्राम शाहपुरा के प्रगतिशील कृषक लाखन सिंह, सीताराम गहलोत विगत 4-5 वर्षों से काले गेहूं की श्रीविधि पद्धति से खेती करते आ रहे हैं। श्री गहलोत का कहना है कि श्रीविधि पद्धति से बीज की काफी बचत हो जाती है एवं किसी भी परिस्थिति में पौधा स्वस्थ एवं मजबूत रहता है। श्रीविधि पद्धति से बोनी करने पर मात्र 7 किलो प्रति बीघे के मान से बीज लगता है एवं 1 बीघे में लगभग 3500 रुपए मजदूरी खर्च आता है। एक बीघे में बीज की चोपाई करने में अधिकतम 22-23 मजदूर लगते हैं। गहलोत ने पिछले साल भी काले गेहूं की खेती श्री विधि पद्धति से की थी एवं एक बीघे में लगभग 14-15 क्विंटल उत्पादन प्राप्त किया था। उन्होंने बताया कि 25 किलो 19-19 तरल खाद का भी स्प्रे किया। पहले पानी (पलेवा) के पूर्व उक्त गेहूं किस्म की खेती विकासखंड में पदस्थ ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री राजेन्द्र चौधरी, गजेन्द्र अत्रे, श्री तोमर साहब के मार्गदर्शन में पिछले वर्ष भी की गई थी तथा इस वर्ष 2 बीघे में काले गेहूं एवं 3 बीघे में गेहूं की नई किस्म 8777 की बोनी कर रहे हैं। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष 5 बीघा रकबा भी बढ़ाया गया है। इस गेहूं का उत्पादन 2 पानी मं करीब 20 क्विंटल तथा 3-4 पानी में 22 क्विंटल प्रति बीघे के मान से होता है। विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए कृषक श्री लाखन सिंह सीताराम गहलोत के मो. नं. : 9754012222 पर संपर्क कर सकते हैं।

– प्रस्तुति : श्रवण मीणा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *