बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन का 2020-21 के लिए अंतिम अनुमान और 2021-22 के लिए पहला अग्रिम अनुमान

Share

29 मार्च 2022, नई दिल्ली बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन का 2020-21 के लिए अंतिम अनुमान और 2021-22 के लिए पहला अग्रिम अनुमान – केंद्रीय कृषि विभाग ने राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों और अन्य सरकारी स्रोत एजेंसियों से प्राप्त जानकारी के आधार पर संकलित विभिन्न बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन के 2020-21 के अंतिम अनुमान और 2021-22 के पहले अग्रिम अनुमान जारी किए।

कुल बागवानी 2019-20(अंतिम) 2020-21(अंतिम) 2021-22(पहला अग्रिम अनुमान)
क्षेत्रफल (मिलियन हेक्टेयर में) 26.48 27.48 27.56 
उत्पादन (मिलियन टन में) 320.47 334.60 333.25 

2020-21 की मुख्य विशेषताएं (अंतिम)

  • 2020-21 में कुल बागवानी उत्पादन रिकॉर्ड 334.60 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो कि 2019-20 में कुल उत्पादन की तुलना में लगभग 14.13 मिलियन टन (4.4%) अधिक है।
  • फलों का उत्पादन 2019-20 में प्राप्त 102.08 मिलियन टन की तुलना में 102.48 मिलियन टन होने का अनुमान है।
  • सब्जियों का उत्पादन पिछले वर्ष के 188.28 मिलियन टन की तुलना में 200.45 मिलियन टन होने का अनुमान है यानी 6.5% की वृद्धि।
  • 2019-20 में 26.09 मिलियन टन उत्पादन के मुकाबले प्याज का उत्पादन 26.64 मिलियन टन होने का अनुमान है।
  • आलू का उत्पादन 2020-21 में 56.17 मिलियन टन के रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान है, जो 2019-20 में आलू उत्पादन की तुलना में 7.61 मिलियन टन अधिक है।
  • टमाटर का उत्पादन 21.18 मिलियन टन होने की सूचना है, जबकि 2019-20 में 20.55 मिलियन टन का उत्पादन हुआ था।
  • सुगंधित और औषधीय फसलों में 12.4% की वृद्धि दर्ज की गई है, जो 2019-20 में 0.73 मिलियन टन से बढ़कर 2020-21 में 0.83 मिलियन टन हो गई है।
  • रोपण फसलों का उत्पादन 2019-20 में 16.12 मिलियन टन की तुलना में 2020-21 में बढ़कर 16.63 मिलियन टन हो गया है।
  • मसालों का उत्पादन 9.7% बढ़ा है, जो 2019-20 में 10.14 मिलियन टन से बढ़कर 2020-21 में 11.12 मिलियन टन हो गया है।

2021-22 की मुख्य विशेषताएं (प्रथम अग्रिम अनुमान)

2021-22 में कुल बागवानी उत्पादन 333.3 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो 2020-21 (अंतिम) की तुलना में लगभग 1.35 मिलियन टन (0.4% की कमी) कम है।

पिछले वर्ष की तुलना में फलों के उत्पादन में वृद्धि जबकि सब्जियों, मसालों, फूलों के सुगंधित और औषधीय पौधों और रोपण फसलों के उत्पादन में कमी की परिकल्पना की गई है।

फलों का उत्पादन 2020-21 में 102.5 मिलियन टन की तुलना में 102.9 मिलियन टन होने का अनुमान है।

सब्जियों का उत्पादन 2020-21 में 200.4 मिलियन टन की तुलना में 199.9 मिलियन टन होने का अनुमान है।

प्याज का उत्पादन 2020-21 में 26.6 मिलियन टन के मुकाबले 31.1 मिलियन टन होने का अनुमान है।

आलू का उत्पादन 2020-21 में 56.2 मिलियन टन की तुलना में 53.6 मिलियन टन होने की उम्मीद है।

2021-22 के सारांश के लिए यहां क्लिक करें (प्रथम अग्रिम अनुमान)

महत्वपूर्ण खबर: हरदा में खुलेगा प्रदेश का तीसरा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस : श्री पटेल

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.