इस वर्ष चावल उत्पादन में कमी की आशंका

Share
मुख्य खरीफ फसलों का पहला अग्रिम उत्पादन अनुमान जारी

22 सितम्बर 2022, नई दिल्ली: इस वर्ष चावल उत्पादन में कमी की आशंका – कृषि मंत्रालय द्वारा वर्ष 2022-23 के लिए मुख्य खरीफ फसलों के उत्पादन के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी कर दिये गये हैं। वर्ष 2022-23 के दौरान खरीफ चावल का कुल उत्पादन 104.99 मिलियन टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों (2016-17 से 2020-21) के 100.59 मिलियन टन औसत खरीफ चावल उत्पादन की तुलना में 4.40 मिलियन टन अधिक है। परन्तु गत वर्ष की तुलना में यह उत्पादन कम है। क्योंकि गत वर्ष 111.76 मिलियन टन चावल उत्पादन हुआ था तथा इस वर्ष 112 मिलियन टन चावल उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। यदि उत्पादन अनुमान के मुताबिक 104.99 मिलियन टन चावल उत्पादन हुआ तो यह उत्पादन गत दो वर्षों में सबसे कम होगा।

देश में चावल उत्पादन में कमी का मुख्य कारण पूर्वी भारत के प्रमुख धान उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड एवं पश्चिम बंगाल में पानी की कमी को माना जा रहा है। इस कारण ही उत्पादन प्रभावित होने की संभावना है। इसके चलते देश में चावल की कीमतें भी बढऩे लगी हैं। हालांकि केन्द्र सरकार ने त्वरित कदम उठाते हुए टूटे चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है तथा कुछ चावल की किस्मों पर शुल्क भी लगाया है। देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन गत खरीफ में 156.04 मिलियन टन की तुलना में 3.9 फीसदी गिरकर 149.92 मिलिटन टन होने का अनुमान है।

दूसरी तरफ केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि वर्ष 2022-23 के लिए प्रथम अग्रिम अनुमान (केवल खरीफ) के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन 149.92 मिलियन टन अनुमानित है जो विगत पांच वर्षों (2016-17 से 2020-21) के औसत खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 6.98 मिलियन टन अधिक है।

कृषि मंत्रालय के पहले अनुमान के मुताबिक वर्ष 2022-23 के दौरान देश में मक्का का उत्पादन रिकॉर्ड 23.10 मिलियन टन, खरीफ पोषक /मोटे अनाज का उत्पादन 36.56 मिलियन टन, दलहन उत्पादन 8.37 मिलियन टन एवं तिलहन उत्पादन 23.57 मिलियन टन अनुमानित है।

इसी प्रकार वर्ष 2022-23 के दौरान देश में गन्ने का उत्पादन रिकॉर्ड 465.05 मिलियन टन, कपास का उत्पादन 34.19 मिलियन गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठे) तथा पटसन एवं मेस्ता का उत्पादन 10.09 मिलियन गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठे) अनुमानित हैं।

पहला अग्रिम उत्पादन अनुमान

खाद्यान्न –            149.92 मिलियन टन

चावल –                                104.99 मिलियन टन

मोटे अनाज –                 36.56 मिलियन टन

मक्का –                              23.10 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

दलहन –                          8.37 मिलियन टन

अरहर  –                               3.89 मिलियन टन

तिलहन –                       23.57 मिलियन टन

मूंगफली –                        8.37 मिलियन टन

सोयाबीन –                        12.89 मिलियन टन

कपास –                 34.19 मिलियन गांठें (प्रति 170 कि. ग्रा.)

पटसन एवं मेस्टा –     10.09 मिलियन गांठें (प्रति 180 कि. ग्रा.)

गन्ना –                        465.05 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

वर्ष 2008-09 से वर्ष 2022-23 के लिए प्रथम अग्रिम अनुमान इस प्रकार हैं- वर्ष 2022-23 में खरीफ फसलों के उत्पादन के बारे में विस्तृत प्रथम अग्रिम अनुमानों को देखने के लिये यहां क्लिक करें।

महत्वपूर्ण खबर: मंदसौर मंडी में सोयाबीन आवक बढ़ी; भाव पिछले साल की तुलना में कम लेकिन एमएसपी से अधिक

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.